कमेटी का एलान शाही ईदगाह मे नही होगी ईद की नमाज - मौलाना जफर




जौनपुर । देश में लाक डाऊन के चलते  शाही ईदगाह में इस साल ईद की नमाज नहीं पढ़ी जाएगी यह फैसला ईदगाह कमेटी ने देशभर में फैले कोरोना संक्रमण को मद्देनजर रखते हुए लिया है।
कमेटी के सेक्रेटरी मोहम्मद शोएब खान अच्छू ने बताया कि रमजान के पहले से ही पूरे देश में लाकडाउन लागू है और कोरोना संक्रमण  का प्रकोप पूरे देश और दुनियां में फैला हुआ है उसी को देखते हुए हजरत मौलाना जफर अहमद सिद्दीकी साहब इमाम शाही ईदगाह ने एक बैठक के पश्चात यह एलान करवाया है की इस साल ईद की नमाज ईदगाह में नहीं होगी और इस नमाज के बदले में कोई नमाज भी नहीं होगी । इसलिए लोग छोटी मस्जिदों और अपने घरों पर भी ईद की नमाज न अदा करे उसके बदले दुआ करे । तमाम शहर व कस्बो तथा गांव के मुसलमानो से गुजारिश है कि ईद के दिन अपने घरों से ना निकले क्योंकि कहीं पर भी किसी भी प्रकार की नमाज नहीं होनी है।ईद के दिन तमाम लोग अपने-अपने घरों में रहे और लाक डाउन का पालन करें और अल्लाह से दुआ करें कि जल्द से जल्द यह आबो हवा हमारे मुल्क से खत्म हो ताकि हम पहले की तरह अपनी हर इबादत अपनी-अपनी मस्जिदों, इबादत गाहो मे कर सके।
ईद को लेकर पूर्व विधायक अफजाल खान की सरपरस्ति और मिर्जा दावर बेग की सदारत मे एक जरूरी मीटिंग ईदगाह कमेटी की ईदगाह के प्रांगण मे हुई।
जिसमे तमाम उलमाओ और मकतबे फिक्र और हजरत मौलाना सुफी जफर अहमद सिद्दीकी से राय मशविरा करने के बाद कमेटी ने इस साल नमाज न पढने का ऐलान किया है ।
बैठक मे मुख्य रूप से नेयाज ताहिर शेखू, एवं  शमीम, रियाजुल हक, हफीज शाह, इमरान बंटी, हुमायू अख्तर बब्लू, अबुजर अंसारी,आदि तमाम  लोग मौजुद रहे ।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा चपरासी ढाई लाख रुपए घूस ले रहा था चपरासी सहित एसीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद