हरिजन बस्ती के लिए स्वीकृत सड़क एक परिवार को लाभ पहुंचाने के लिए बनी , विधायक की सह पर ॠषिराज दूबे की जमीन गयी सड़क में




जौनपुर । जनता जन प्रतिनिधि का चुनाव करती है कि उसके जन प्रतिनिधि द्वारा पूरे क्षेत्र का विकास होगा लेकिन जब जन प्रतिनिधि गांव की राजनीति का हिस्सा बन जाये तो आम जनता कितना महफूज एवं विकासोन्मुखी रहेगी सहज अनुमान लगाया जा सकता है। जी हां हम बात कर रहे हैं विधानसभा जफराबाद क्षेत्र स्थित ग्राम सादीपुर ( सिरकोनी )की  यहाँ पर एक स्वजातीय परिवार को लाभ पहुंचाने के लिए क्षेत्रीय विधायक की सह पर ठीकेदार ने हरिजन बस्ती के लिए स्वीकृत सड़क को जबरिया एक ब्राह्मण के नाम की जंगल खाते की जमीन पर हरे भरे पेड़ों  को कटवा कर सड़क बनवा दिया गया है । इस घटना से पूरे गांव की आवाम खासी नाराज हैं और जिला सहित प्रदेश एवं मंडल स्तरीय अधिकारियों को प्रत्यावेदन देते हुए न्याय करने की मांग किया है।
बतादे शासन ने रसैना मार्ग से सादीपुर हरिजन बस्ती के लिए एक सड़क स्वीकृत किया यह सड़क हरिजन बस्ती में जाने के बजाय क्षेत्रीय विधायक की अनुशंसा पर सादीपुर गांव के एक सिंह परिवार को लाभ पहुंचाने के लिए गांव के ॠषिराज दूबे के बगीचे की जमीन आराजी नंबर  1642 (ख) जिसका क्षेत्रफल  1,307 हैक्टेयर है इस आराजी निजात से जबरिया पेड़ों को काटते हुए लगभग 400 मीटर तक सड़क बनाने के लिए मिट्टी डलवा दिया गया है । जबकि सुप्रीम कोर्ट कहती है प्रकृति की रक्षा के लिए  कि पेड़ो को न काटा जाये बल्कि पेड़ लगाये जायें।  यहां सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन होने के साथ हरीजन बस्ती के नाम से स्वीकृत सड़क इस बस्ती को सड़क नहीं मिली साथ ही एक ब्राह्मण परिवार की जमीन जबरिया सड़क का हिस्सा बना दिया गया है।



विधायक की सह पर ठीकेदार की मनमानी के विरोध में पीड़ित ब्राहमण परिवार से ॠषिराज दूबे ने अपनी जमीन पर जबरिया सड़क बनाये जाने के बाबत जिलाधिकारी जौनपुर सहित मुख्यमंत्री उप्र,  मंडलायुक्त वाराणसी ,मंत्री पीडब्लूडी, प्रमुख सचिव राजस्व परिषद, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग को शिकायती पत्र भेजते हुए पूरे मामले में न्याय की मांग किया है । खबर है कि विधायक के दबाव में जिला प्रशासन के अधिकारी ब्राह्मण परिवार के साथ न्याय नहीं कर रहा है। न्याय मिलेगा या शक्ति के सामने रद्दी की टोकरी का हिस्सा बन जायेगा यह तो भविष्य के गर्भ में है लेकिन क्षेत्र में विधायक से जनता की नाराजगी शुभ संकेत नहीं हो सकती है। 

Comments

  1. Galat gov ke prastavit jamin per hi chakroad banana chahiye jaunpur DM kafi sulakhe officer hai kisi ke sath anyay nahi hone denge

    ReplyDelete
    Replies
    1. Yahi to durbhagya hai.sir
      Jb Officer apne mn ka kaam kre tb na.

      Delete

Post a Comment

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र