कक्षा एक से आठ तक के दिव्यांग बच्चों को जांच करके दिया जायेगा उपकरण - बीएसए




जौनपुर । जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रवीण कुमार तिवारी ने बताया कि राज्य परियोजना निदेशक, समग्र शिक्षा अभियान लखनऊ के अनुपालन में समेकित शिक्षा के अन्तर्गत 06 से 14 वर्ष (कक्षा 1 से 8) तक के दिव्यांग (सीडब्ल्यूएसएन) बच्चों को एलिम्को, कानपुर से आये विशेषज्ञ द्वारा जाॅच कर उपस्कर/उपकरण के लिए पंजीकृत कर परीक्षण के उपरान्त रसीद दी जायेगी। परीक्षण एवं पंजीकरण 05 फरवरी 2021 दिन शुक्रवार को, उपकरण वितरण 10 मार्च 2021 दिन बुधवार को बी.आर.सी. मुफ्तीगंज एवं परीक्षण एवं पंजीकरण 06 फरवरी 2021, दिन शनिवार, उपकरण वितरण 12 मार्च 2021 दिन शुक्रवार को बी.आर.सी. सिकरारा में प्रातः 9 बजे से कैम्प समाप्त होने तक किया जायेगा। शिविर में दी जाने वाली सुविधायें-शारीरिक दिव्यांग बच्चों हेतु बैशाखी, वाकिंग स्टिक, व्हील चेयर, ट्राई साइकिल आदि के लिए पंजीकरण एवं वितरण, दृष्टि दिव्यांग बच्चों हेतु व्हाइट केन/स्मार्ट केन (नेत्रहीन की छड़ी) एवं ब्रेल किट (नेत्रहीनों के लिखने-पढ़ने सम्बन्धी उपरकण) के लिए पंजीकृत एवं वितरण, वाक् श्रवण दिव्यांग (मूक-बधिर) बच्चों हेतु कान की जाॅच एवं हियरिंग ऐड (कान की मशीन) के लिए पंजीकरण एवं वितरण, बौद्धिक दिव्यांग बच्चों हेतु एम0आर0 किट (पढ़ने-लिखने एवं अभ्यास सामग्री) हेतु पंजीकरण एवं वितरण किया जायेगा। शिविर में पंजीकरण करने हेतु आवश्यक दस्तावेज लाना अनिवार्य है जिसमें प्रत्येक बच्चों को अपने साथ दिव्यांगता प्रदर्शित करती हुई पासपोर्ट साइज की 03 फोटो, मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा निर्गत दिव्यांगता प्रमाण पत्र की छायाप्रति, स्वयं अथवा अभिभावक को फोटो युक्त पहचान पत्र (आधार/स्कूल आई कार्ड/मतदाता पहचान पत्र/राशन कार्ड/किसान बही/मनरेगा जाब कार्ड की फोटो कापी), अभिभावक का आय प्रमाण पत्र (ग्राम प्रधान/सभासद/ब्लाक प्रमुख/एम0 एल0ए0/एम0 पी0/तहसीलदार द्वारा निर्गत) अथवा बी0पी0एल0 कार्ड/मनरेगा कार्ड, बच्चा जिस विद्यालय में पढ़ रहा है उस विद्यालय के प्रधानाध्यापक द्वारा सादे कागज पर हस्ताक्षर एवं मोहर सहित लिखित प्रमाण-पत्र जिसमें बच्चे का नाम, पिता का नाम, पता, आयु, कक्षा, प्रवेशांक, जाति एंव बच्चे का आधार नम्बर लिखा हो। वर्तमान में कोविड-19 के दृष्टिगत बच्चों तथा स्टाफ के मध्य 06 फीट की फिजिकल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराया जाय, बच्चों, उपस्थित स्टाफ के द्वारा मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से किया जाये, बच्चों को वहां से लाने ले जाने में, वाहन में चढ़ाने, यात्रा करने एवं उतरने के समय कोविड-19 के प्रोटोकाॅल विशेषकर मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिंग, सैनीटाइजर का विशेष ध्यान दिया जाय। मापन व वितरण कैम्प में लाभार्थी बच्चों की आॅनलाइन डाटा इन्ट्री स्पेशल एजूकेटर एवं फिजियोथेरेपिस्ट के द्वारा कैम्प स्थल पर ही की जायेगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक

मनीष हत्याकांड का आरोपी 01लाख रुपए का इनामी, जौनपुर निवासी दरोगा विजय यादव हुआ गिरफ्तार, एसआईटी की पूंछताछ जारी