टिकट न होने के कारण टीटी ने यात्री को ट्रेन नीचे ढकेला,यात्री की हो गयी मौत,टीटी पहुंचा जेल



कोरोना संक्रमण काल में एक तरफ सरकार श्रमिकों के सहायता का दावा कर रही है तो वही पर सरकारी कर्मचारी द्वारा ट्रेन से यात्रा करने वाले श्रमिक को ट्रेन से धक्का दे कर नीचे धकेलने और यात्री की मौत ने एक बड़ा एवं अनुत्तरित सवाल खड़ा कर दिया है। आज लखनऊ में ट्रेन से घर वापस जा रहे यात्री को धक्का देने का मामला सामने आया है। लॉकडाउन के बीच टीटी द्वारा ट्रेन से जा रहे यात्री का 1500 रुपये के चालान काटने के बाद नीचे फेंक दिया। हलांकि इस वाकये के बाद से ट्रेन में मौजूद जीआरपी ने आरोपी टीटी को गिरफ्तार करके आगे की प्रक्रिया को शुरू कर दिया है। 
मिली जानकारी के अनुसार, सिकंदराबाद में प्राइवेट कम्पनी में नौकरी करने वाले बसंत की लॉकडाउन के चलते नौकरी चली गई थी। जिसके चलते वह अपने चचेरे भाई व बहनोई गोविंद के साथ वापस घर जाने के लिए सिकंदराबाद गोरखपुर स्पेशल ट्रेन 02590 से घर वापस जाने के लिए चल पड़ा। 
बसंत के साथ चलने वाले यात्री गोविंद का रिजर्वेशन D3 बोगी में था। जल्दबाजी में बसंत  टिकट नहीं ले पाया और जब ट्रेन लखनऊ के बादशाह नगर रेलवे स्टेशन के पास पहुंची, तो वहां बोगी में मौजूद टीटी जय नारायण यादव और एक अन्य टीटी के साथ चेकिंग के लिए पहुंचा। इसी बीच बसंत के पास टिकट न होने की वजह से उससे पंद्रह सौ रुपये की चालान की बात कही। जिस पर बसंत ने एक हजार रुपए दे दिए और कहा कि उसके पास और रू500 नहीं है। फिर इसी बात पर टीटी और बसंत के बीच कहासुनी हो गई। ऐसे में आरोप है कि टीटी ने बसंत की पिटाई कर दी और उसे ट्रेन से धक्का दे दिया। जिसके चलते बसंत ट्रेन के नीचे आ गया और उसकी मौत हो गई। 
इस दौरान नाराज यात्रियों ने चेन खींचकर ट्रेन को रोक दिया और टीटी की जमकर पिटाई भी की। तभी मौके का फायदा उठाकर दूसरा टीटी मौके से फरार हो गया। हालाकिं बाद में मौके पर जीआरपी पहुंची और मृतक बसंत के बहनोई गोविंद की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया। बताया जा रहा है कि आरोपी टीटी को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

जौनपुर में बसपा को जोर का झटका करीने से, डॉ जेपी सिंह ने सुभासपा किया ज्वाइन