पुलिस की गोपनीयता लीक करने का इनाम इन्सपेक्टर एक थाने से हटा अब जिले में घूमेंगा



जौनपुर । थाना कोतवाली केराकत के प्रभारी पद पर रहते हुए इन्सपेक्टर विनय प्रकाश सिंह द्वारा जिला बदर अपराधी से पुलिस विभाग की गोपनियता लीक करने एवं उसे सावधान करने का आडियो वायरल होने पर खबर मीडिया में हाईलाईट होने के पश्चात आज सोमवार को पुलिस अधीक्षक राज करन नय्यर ने इन्सपेक्टर को सजा देने के नाम एक थाना प्रभारी से हटा कर जिले के सभी थाना क्षेत्र में काम करने के लिए क्राइम ब्रांच का प्रभारी बना दिया है। यह कैसा दन्ड है यह आम जन मानस नहीं समझ पा रहा है। 
यहां बतादे कि जनपद के जिलाधिकारी ने थाना केराकत क्षेत्र स्थित ग्राम उदय चन्द पुर निवासी कुख्यात अपराधी पियूष कान्त यादव उर्फ पी के यादव को पंचायत चुनाव से पहले ही जिला बदर करने का आदेश जारी कर दिया था। पी के यादव के उपर हत्या, हत्या के प्रयास एवं गुण्डा एक्ट आदि के लगभग 16 संगीन मुकदमें दर्ज है। इस अपराधी से कोतवाल पद पर रहते हुए विनय प्रकाश सिंह मोबाइल से दोस्ताना बात करते हुए कहा कि पुलिस सादी वर्दी में तलाश कर रही है आप यहां से भाग जाओ यानी अपराधी को पकड़ने के बजाय उसे सावधान कर रहे थे। 
 वायरल आडियो में अपराधी जिला मजिस्ट्रेट के खिलाफ अपशब्दो का प्रयोग कर रहा था कोतवाल सुन रहे थे। आडियो वायरल होने पर पुलिस अधीक्षक ने जांच बैठा दिया लेकिन जब इसे जब मीडिया ने प्रमुखता से उठाया तब पुलिस अधीक्षक ने आज सोमवार को इन्सपेक्टर विनय प्रकाश सिंह को थाना प्रभारी कोतवाली केराकत से हटा कर जनपद मुख्यालय पर क्राइम ब्रांच का प्रभारी बना दिया है। अभी तक विनय प्रकाश सिंह एक थाने के अपराधी को सावधान कर रहे थे अब क्राइम ब्रांच प्रभारी के रूप में जनपद के सभी थाना क्षेत्र के अपराधियों से इनके संपर्क होगे ऐसे में अपराधियों मे क्या असर होगा यह तो अधिकारी ही जानेलेकिन जन मानस के बीच में चर्चा है कि जिसे विभाग की गोपनीयता लीक करने पर निलम्बित करना चाहिए था उसे केवल स्थानान्तरित करके अधिकारी इतिश्री कर लिये हैं। तो पुलिस जनों में अधिकारी का खौफ कैसे रहेगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में बसपा को जोर का झटका करीने से, डॉ जेपी सिंह ने सुभासपा किया ज्वाइन

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

मल्हनी विधायक लकी यादव एवं उनके एक दर्जन समर्थको पर बक्शा थाने में दर्ज हुआ मुकदमा