वैज्ञानिको की चेतावनी सावधान जाने कब आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर,



देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर अब धीरे धीरे कम होने लगा है। लेकिन समस्या अब तक पूरी तरह टला नहीं है। दूसरी लहर के बीच वैज्ञानिक लगातार तीसरी लहर की दस्तक दे रहे हैं। हालांकि तीसरी लहर कब आएगी इसे लेकर अनुमान जारी है। इस बीच एक्सपर्ट्स का कहना है कि देश में तीन महीने बाद तीसरी लहर की दस्तक हो सकती है। जाहिर है कि देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर की दस्तक के बाद कोरोना के नए मामले काफी तेजी से बढ़े थे। लगातार कोरोना के नए मरीजों की संख्या बढ़ने से अस्पतालों में भीड़ बढ़ी और इससे स्वास्थ्य व्यवस्थाएं बुरी तरह चरमरा गईं। काफी पाबंदियों के बाद दूसरी लहर का कहर थमा है, हालांकि अब तीन महीने बाद तीसरी लहर के दस्तक देने की बात एक्सपर्ट्स कह रहे हैं। इसके अलावा हाल ही में दिल्ली हाई कोर्ट ने भी केंद्र और दिल्ली सरकार को अलर्ट किया था कि अब हम तीसरी लहर से ज्यादा दूर नहीं हैं।
वैज्ञानिक चिंतित एक और साल तक बना रहेगा महामारी का खतरा हालांकि कोरोना वायरस की तीसरी लहर को लेकर सरकार पहले से ही अलर्ट है और इसे लेकर जरूरी कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। मेडिकल एक्सपर्ट्स के एक पोल से पता चला है कि अक्टूबर तक भारत में कोविड-19 की तीसरी लहर आने की आशंका है। लेकिन इसे पहले की तुलना में बेहतर तरीके से नियंत्रित किया जा सकेगा। ये जरूर कहा गया है कि अभी कम से कम एक और साल तक वायरस का खतरा पब्लिक हेल्थ पर बना रहेगा।
वैक्सीनेशन अभियान से मिलेगा काफी मदद एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि कोरोना की नई लहर को कम करने के लिए कोविड-19 के खिलाफ जारी वैक्सीनेशन अभियान एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, थर्ड वेव को लेकर प्रीडिक्शन करने वालों में से 85 फीसदी से अधिक ने कहा है कि अक्टूबर तक नई लहर आ सकती है। वहीं 70 फीसदी से अधिक का मानना है कि नई लहर को पहले की लहर के मुकाबले बेहतर तरीके से नियंत्रित किया जा सकेगा। 
बता दें कि तीसरी लहर में सबसे ज्यादा बच्चों पर खतरा मंडराने की बात कही जा रही है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, 18 साल से कम उम्र के लोगों को संभावित तीसरी लहर में सबसे अधिक खतरा होगा। अभी बच्चों के लिए वैक्सीन उपलब्ध नहीं है, ऐसे में स्थिति के और गंभीर होने की आशंका जताई गई है। हालांकि भारत में कोरोना की तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए सरकार ने बच्चों पर कोविड-19 वैक्सीन के ट्रायल की अनुमति दे दी है और इसी के साथ अलग अलग राज्यों ये काम तेजी से शुरू भी हो चुका है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज

यूपी के गांव में जमीनी विवाद खत्म करने के सरकार ने बनायी यह योजना,नहीं होगी मुकदमें की नौबत