समय से पहले आया मानसून, मौसम विभाग का अलर्ट भारी बारिश की संभावना,उत्तराखंड में नदियां उफान पर


समय से पहले आया मानसून जहां उत्तर प्रदेश में छा चुका है और अधिकांश जिलों में बारिश हो रही है वहीं उत्तराखंड में प्रमुख नदियां उफना गई हैं। यहां पर चमोली जिले में लगातार बारिश हो रही है। भारी बारिश और भूस्‍खलन के चलते गुलाबकोटी और कौड़िया में बद्रीनाथ नेशनल हाइवे ब्‍लॉक हो गया है। राज्य के कुल 28 मार्गों में इस समय यातायात अवरुद्ध है। उत्तराखंड में मौसम विभाग तीन ज़िलों में भारी बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी कर चुका है। राज्य के नैनीताल, चंपावत और पिथौरागढ़, चमोली, बागेश्वर, उधमसिंह नगर ज़िलों में बेहद भारी बारिश होने का अनुमान है। 
भारी बारिश के कारण भूस्खलन इस तरह की भी खबरें हैं कि बारिश के साथ ही पुल टूटने और भूस्खलन होने से कई जगहों पर लोग फंस गए हैं। उत्तराखंड में टूटे हुए मलारी हाई वे का काम अब तक शुरू नहीं हो सका है उधर हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति में भी बारिश के कारण भूस्खलन होने से कई लोग फंस गए हैं। पहाड़ों में हो रही बारिश का असर उत्तर प्रदेश पर भी पड़ रहा है। बारिश से यहां की शारदा, घाघरा, राप्ती और सरयू खतरे के निशान की ओर बढ़ रही हैं। नदियों के तेजी से बढ़ रहे जलस्तर ने ग्रामीणों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। उत्तराखंड में भारी बारिश से लोगों का हाल-बेहाल(फोटो- सोशल मीडिया) खासकर नदियों के तटवर्ती इलाकों में रहने वाले लोग परेशान हैं। किसानों का कहना है कि अमूमन जुलाई में के अंत तक बाढ़ के हालात होते थे लेकिन इस बार ऐसा लग रहा है कि बाढ़ जून बीतते आ जाएगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार

मारपीट की घटना को विधायक एवं उनके समर्थको पर लूट तक का मुकदमा हुआ दर्ज