चालान काटने पर पुलिस को उठानी पड़ी फजीहत, किन्नरो ने जानें क्यों किया नंगा डान्स


चंदौली जिले के मुगलसराय कोतवाली के स्थानीय कस्बा में पुलिस को अपनी कारगुजारी पर पछताना पड़ा और किन्नरों के हंगामे के आगे नतमस्तक होकर स्वयं का काटे गए चालान का भुगतान करने पर मामला शांत हुआ। मुगलसराय बाजार में उस समय हड़कंप मच गया जब पुलिस द्वारा एक किन्नर के स्कूटी गाड़ी का चालान 1000 रुपये का काट दिया गया। जानकारी के बाद किन्नरों ने हंगामा करना शुरू कर दिया, और यातायात पुलिस को किन्नर की स्कूटी का चालान काटना महंगा पड़ गया। चालान काटते ही किन्नर भड़क गए और इकट्ठा होकर पुलिस के खिलाफ हंगामा करने लगे। 
प्रदर्शन करते किन्नर आपको बता दें कि मुगलसराय में समाजवादी पार्टी के कार्यालय के पास बने पुलिस पिकेट के सामने रविवार को किन्नरों ने जमकर नग्न हंगामा किया। पुलिस द्वारा किन्नर की एक स्कूटी का 1000 रुपये का चालान काट दिया गया था। बताया जा रहा है कि आलमपुर की रहने वाली एक किन्नर की स्कूटी वीआईपी गेट के समीप खड़ी थी, वहीं यातायात पुलिस ने उसका चालान कर दिया। जैसे ही इस बात की जानकारी अन्य किन्नरों को हुई वह यातायात पुलिस पिकेट के पास पहुंचकर कपड़े उतारकर हंगामा करना शुरू कर दिया। किन्नरों को इस हालत में देखकर वहां भीड़ जमा होने लगी और स्थानीय महिलाओं के लिए असहज स्थिति पैदा हो गई।
किन्नरों के हंगामे को देखकर पुलिसकर्मी भी कुछ नहीं समझ पा रहे थे किन्नरों के हंगामे को देखकर पुलिसकर्मी भी कुछ नहीं समझ पा रहे थे कि वह क्या करें और क्या नहीं करें। ऐसी स्थिति में कई पुलिसवाले वहां से खिसकने लगे। बाद में हंगामा बढ़ता देख पुलिस वालों ने चालान की राशि खुद अपनी जेब भरने का आश्वासन दिया। तब जाकर किन्नरों ने अपना हंगामा बंद किया। खुलेआम सड़क पर किन्नरों द्वारा नग्न तांडव किया जा रहा था और सभी लोग मूकदर्शक बने हुए थे। रास्ते से गुजरने वाली महिलाएं किन्नरों के इस असभ्य प्रदर्शन से परेशान होकर पर्दा करते हुए कन्नी काट कर चली गई। किन्नरों के इस प्रदर्शन के कारण बाजार में आफरा तफरी का माहौल रहा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम