आरोपी की गिरफ्तारी के बाद आखिर थानेदार ने महिला को क्यों पीटा क्या इसकी जांच होगी?



जौनपुर। जनपद के थाना खुटहन के थानेदार ने सियरावासी गांव में मारपीट की एक घटना को लेकर दबिश देने के नाम पर आरोपित के घर पहुच कर आरोपित की माँ को थप्पड़ जड़ने तथा परिवार समेत उसके साथ दुर्व्यवहार का मामला प्रकाश में आया है। महिला द्वारा लगाए आरोपों का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। परिजनों का कहना है कि पुलिस की पीड़ित के प्रति इतनी सहानुभुति बढ़ गयी कि पूरी टीम के साथ थानाध्यक्ष आरोपित के घर चढ़कर महिलाओं से अभद्रता किये और घर के अन्दर घुसकर उनके साथ दुर्व्यवहार किया है।
जबरन गाड़ी में बैठाकर थाने उठा ले गए। देर रात थाने पर पहुँचें दर्जनो लोगों को देख पुलिस महिला को छोड़ने पर विवश हो गई।
महिला का आरोप है कि थानाध्यक्ष के द्वारा पहले तो थप्पड़ों से पिटाई की गई। फिर उसके समेत परिवार के साथ दुर्व्यवहार किया गया। पुलिस द्वारा घर में रखा सामान भी इधर उधर फेंक दिया गया। 
गांव निवासी घायल हिमांशु गौतम के पिता अनिल ने बीते 27 अगस्त को थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया था कि गांव के ही अश्विनी तिवारी पुत्र राधेश्याम उसके पुत्र को पीटकर गंभीर रूप से घायल कर दिए। मामले में पुलिस ने दलित उत्पीड़न सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उसी रात आरोपित को हिरासत में ले लिया। आरोप है कि पुलिस उस पर लूट का फर्जी मुकदमा दर्ज करने के चक्कर में तीन दिनों तक उसे थाने पर बैठाए रखा। इसकी शिकायत जनप्रतिनिधियो व उच्चाधिकारियों से किए जाने पर तिलमिलाए थानाध्यक्ष रविवार की शाम आरोपित को हिरासत में लेकर पुनः उसके घर पहुंच गये। जहाँ मोबाइल ढूढने के नाम पर घर का सामान तोड़ फोड़ कर फेंकने लगे।विरोध करने पर आरोपित की माता चंदा देवी को भी थप्पड़ मार अपशब्द बोलते हुए वाहन में बैठा लिया। आरोप है कि उसे थाने में ले जाकर भी पीटा गया। पीड़िता ने इसकी आनलाइन शिकायत मुख्यमंत्री और डीजीपी को किया है। पीड़िता ने बताया कि यदि उसे त्वरित न्याय नहीं मिला तो वह न्यायालय का दरवाजा खटखटायेगी। इस संदर्भ में पुलिस के अधिकारी कुछ भी बोलने से बचते नजर आ रहे है। इसकी जांच होगी अथवा पीड़िता की आवाज नक्कार खाने की तूती बन कर रह जायेगी। यह एक बड़ा सवाल विभाग पर है।


टिप्पणियाँ

  1. If it is correct news action must be taken. It is also to be notified that SI belongs to which cost.Some officers are trying to defame Govt

    जवाब देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन