पाठ्यक्रम पुनर्संरचना में योगदान के लिए पीयू के चार शिक्षकों को मिला प्रशस्ति पत्र, कुलपति ‌ने अंगवस्त्रम भेंटकर किया सम्मानित


जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय परिसर के चार शिक्षकों को उत्तर प्रदेश में स्नातक पाठ्यक्रम की पुनर्संरचना/ नया पाठ्यक्रम निर्माण में दिए गए योगदान के लिए शासन ने प्रशंसा की है। उत्तर प्रदेश सरकार की उच्च शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव मोनिका एस.गर्ग ने प्रशस्ति पत्र भेजकर समय से पाठ्यक्रम डिजाइन करने के लिए इंजीनियरिंग संस्थान के गणित विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ.राज कुमार को एनालिटिक एबिलिटी एवं डिजिटल अवेयरनेस पाठ्यक्रम में दो यूनिट का सिलेबस निर्धारण, प्रबन्ध अध्ययन संकाय के डा. मुराद अली को प्रबन्ध अध्ययन का सिलेबस निर्धारण और डॉ.रसिकेश को ह्यूमन वैल्यू एंड एनवायरमेंट स्टडीज के लिए पाठ्यक्रम बनाने में योगदान के लिए प्रशस्ति पत्र प्रदान कर उनके कार्यों की सराहना की है। प्रो. मानस पांडेय इस टीम के मेंटर थे, उन्हीं के नेतृत्व में इस कार्य को विश्वविद्यालय ‌ने पूरा किया गया। विश्वविद्यालय में शुक्रवार को कुलपति सभागार में परिसर के समस्त शिक्षकों की उपस्थिति में चारों शिक्षकों को सम्मानित किया गया। उत्तर प्रदेश के समस्त कॉलेजों तथा समस्त विश्वविद्यालयों में यह पाठ्यक्रम चलेंगे। शिक्षकों के सम्मान में माननीय कुलपति जी द्वारा कार्यक्रम का आयोजन करते हुए अधिकारियों द्वारा इन सभी शिक्षकों को एक अंगवस्त्रम तथा शाल भेंट कर सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर माननीय कुलपति प्रो. निर्मला एस मौर्य ने गुरु गोविंद दोऊ खड़े काके लागू पाय बलिहारी गुरु आपने गोविंद दियो बताए दोहा से गुरु की महिमा का वर्णन किया | वह अपना वक्तव्य देते हुए भाव विभोर हो गई। उन्होंने कहा कि हमारे शिक्षक हर कसौटी पर खरे उतरते हैं। हमें इन पर पूरा भरोसा है। प्रोफ़ेसर मानस पांडेय ने कहा कि यह विश्वविद्यालय में पहला अवसर है कि  शिक्षकों को प्रदेश की तरफ से साथ ही साथ विश्वविद्यालय की ओर से सम्मानित किया जा रहा है।
विश्वविद्यालय के वित्त अधिकारी संजय कुमार राय ने शिक्षकों को विश्वविद्यालय में दिए जा रहे योगदान के लिए बधाई दी। कार्यक्रम का संचालन करते हुए कुलसचिव श्री महेंद्र कुमार ने कहा कि हमें आशा है कि भविष्य में हमारे शिक्षक प्रदेश ही नहीं देशभर में नए कीर्तिमान स्थापित कर विश्वविद्यालय का नाम आगे बढ़ाएंगे । परीक्षा नियंत्रक बीएन सिंह ने कहा शिक्षक अपने आप कष्टों में रहते हुए भी अपने शिष्यों के प्रति उत्तम सोच रखता है उन्हें आगे बढ़ते हुए देखना चाहता हूं। इस अवसर पर समस्त संकाय अध्यक्ष प्रो अविनाश पाथर्दिकर, प्रो राम नारायण, प्रो अशोक कुमार श्रीवास्तव, प्रो वंदना राय, वि वि के अधिकारी, डॉ संतोष कुमार, प्रो देवराज, डॉ प्रमोद कुमार यादव, अन्नू त्यागी, प्रो देवराज सिंह,डॉ संजीव गंगवार, डॉ गिरिधर मिश्र, डॉ रजनीश भास्कर, डॉ सौरभ पाल सहित शिक्षक, शिक्षक संघ अध्यक्ष डॉ विजय सिंह उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक