एक लाख रुपए के इनामी कुख्यात बदमाश कोएसटीएफ ने आज प्रातः मुठभेड़ में मार गिराया



जनपद बलिया में एसटीएफ ने आज प्रातः एक लाख के इनामी बदमाश हरीश पासवान को एक मुठभेड़ में मार गिराया है। हरीश पूर्व जिला पंचायत सदस्य जलेश्वर सिंह हत्याकांड में आरोपी था। काफी समय से पुलिस को उसकी तलाश थी। एक दिन पहले ही बृहस्पतिवार को डीआईजी आजमगढ़ ने इनाम की धनराशि बढ़ाने की संतुति एडीजी वाराणसी जोन से की थी। 
इनामी हरीश पासवान को एसटीएफ ने रसड़ा कोतवाली क्षेत्र के नींबू मोड़ पर  मार गिराया। मूल रूप से हल्दी थाना क्षेत्र के बाबूबेल निवासी हरीश पासवान के खिलाफ बैरिया पुलिस ने सात जुलाई को पूर्व जिला पंचायत सदस्य जलेश्वर सिंह की हत्या में धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया था। इस हत्याकांड के बाद से उसकी पुलिस लगातार तलाश कर रही थी।
लंबे समय से अपराध की दुनिया में सक्रिय हरीश पासवान पर लगभग 33 संगीन मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस के अनुसार, हरीश पासवान अंतरप्रांतीय बदमाश है। उसके खिलाफ बलिया के अलावा झारखंड व छत्तीसगढ़ में करीब 33 मुकदमे दर्ज हैं। इसमें हत्या के आधा दर्जन मुकदमे हैं।

वर्ष 2004 में जरायम जगत में रखा कदम

सूत्रों के अनुसार, हरीश के खिलाफ पहला मुकदमा लूट सहित अन्य आरोपों में साल 2004 में दर्ज किया गया था। इसके बाद जरायम जगत में उसने वारदातों को अंजाम देना शुरू किया तो लोगों में खौफ कायम हो गया। एक दिन पहले ही हरीश के ऊपर इनाम की धनराशि बढ़ाकर एक लाख रुपये की गई थी। जलेश्वर हत्याकांड में पुलिस के ऊपर बढ़ रहे दबाव को देखते हुए हरीश की तलाश में पुलिस के साथ ही एसटीएफ की टीम भी लगाई गई थी। आज शुक्रवार को एसटीएफ की टीम ने डिप्टी एसपी डीके साही के नेतृत्व में स्थानीय पुलिस के साथ रसड़ा कोतवाली क्षेत्र के नींबू मोड़ पर कुख्यात हरीश को मुठभेड़ में ढ़ेर कर दिया। इसे पुलिस की बड़ी सफलता मानी जा रही है।

हरीश पासवान पर दर्ज मुकदमें

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

असलहा बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ बड़ी तादाद में मिले तमंचे, चार गिरफ्तार पहुंचे सलाखों के पीछे

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ