आइए जानते है युवक ने क्यों रची अपने अपहरण की कहांनी


जौनपुर। थाना  मुंगराबादशाहपुर क्षेत्र के एक युवक खुद के अपहरण की कहानी गढ़कर अपने पिता से दस लाख रुपये की फिरौती की मांग करने लगा। हालांकि पुलिस की सक्रियता से सच्चाई सामने आ गई।
सराय कांशी गांव निवासी धर्मराज सरोज का बेटा चंदन सरोज (23) बाइक लेकर जौनपुर गया था। शाम तक वह घर नहीं लौटा। रात में उसने पिता के मोबाइल पर वाट्सएप मैसेज भेजा। इसमें खुद के अपहरण  की बात बताई और दस लाख रुपये फिरौती की मांग की।
मैसेज मिलते ही उसके पिता रात में भागकर थाने पहुंचे और पुलिस को घटना की जानकारी दी और मैसेज दिखाया। पुलिस ने उसके मोबाइल लोकेशन को ट्रेस किया। लोकेशन मिलते ही पुलिस मंगलवार दोपहर बांदा जनपद के एक रेंटोरेंट पहुंच गई। वहां से रात में आठ बजे बाइक और युवक को थाने ले आई।
वहां पूछताछ की तो युवक ने स्वीकार किया कि उसने खुद ही मैसेज भेजा था। इस संबंध में पूछे जाने पर थानाध्यक्ष सदानंद राय ने बताया कि युवक को बरामद कर उसके पिता के सिपुर्द कर दिया गया है। उसने खुद के अपहरण की झूठी कहानी रची थी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन