दीवानी न्यायालय में अनमय की मदद का चला अभियान, अधिवक्ताओं ने किया अर्थदान


जौनपुर। दीवानी न्यायालय परिसर में स्पाइनल मस्कुलर एंट्रोपी टाइप एक रूपी गम्भीर बीमारी से पीड़ित सुल्तानपुर निवासी सात माह के बच्चे अनमय के उपचार हेतु आवश्यक 16 करोड़ रुपये इकट्ठा करने के क्रम में दीवनी न्ययालय के वरिष्ठ अधिवक्ता विकास तिवारी शांडिल्य के अगुवाई में अधिवक्ताओं का एक समूह न्यायालय परिसर में अधिवक्ताओं के चैंबर में जा जाकर मदद हेतु आह्वाहन किया तत्पश्चात अधिवक्ता बार एसोसिएशन भवन के मुख्य द्वार पर अनमय मदद के नाम का एक पोस्टर के साथ खड़े होकर मदद की गुहार पूरे दिन लगाते रहे। अधिवक्ताओं का अनमय की मदद करने के लिए रुचि तब देखने को मिली जब पोस्टर पर लगे अनमय के खाता संख्या का बार कोड स्कैन करने के लिए अधिवक्ताओं की लंबी कतार लग गयी और अधिवक्ताओं ने संवेदनशीलता दिखाते हुए बारी बारी से सम्बंधित खाते में अपनी स्वेच्छा धनराशि सहयोग के रूप में दान की। एक बच्चे के लिए अधिवक्ताओं का यह भाव देखकर दीवानी न्यायालय में आये फरियादी ताली बजाते रहे।
उक्त अवसर पर अधिवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि आम जनमानस के सहयोग से आज दोपहर तक अनमय से सम्बंधित खाते में लगभग 1 करोड़ की धनराशि इकट्ठा कर लिया गया है शेष धन को इकट्ठा करने के लिए हमारा प्रयास लक्ष्य प्राप्ति होने तक सतत चलता रहेगा। अभियान में आज की शुरुवात अधिवक्ताओं के बीच इसलिए किया जा रहा है कि समाज मे जब भी कोई पीड़ित प्रताड़ित होता है तो उसकी प्रारम्भिक मदद से लेकर अंतिम मदद तक खड़ा रहने वाला अधिवक्ता ही होता है। उन्होंने कहा कि दीवानी न्यायालय प्रांगड़ के बाहर आर्थिक सहयोग राशि देने हेतु अधिवक्ताओं की लम्बी कतार देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि इलाज के लिए लगने वाली धनराशि 16 करोड़ के लक्ष्य को जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। 
विकास तिवारी ने सहयोगी अधिवक्ताओं का आभार प्रकट किया।इस मौके पर। अवधेश सिंह, जयप्रकाश सिंह कॉमरेड, विनोद पाण्डेय, उच्च न्यायलय के अधिवक्ता अतुल सिंह, उस्मान अली, आर सी अहमद, बृजनाथ पाठक, शिवेंद्र पाठक, सय्यद रजा मेहंदी, कलेदर बिंद, अश्वनी पाण्डेय, बब्बू उपाध्याय, पद्माकर उपाध्याय, डॉ अब्बासी, अवनींद्र यादव, तुषार श्रीवास्तव, अभय राज, रंजीत यादव, आशीष श्रीवास्तव, धर्मेंद्र मिश्र, मोनू उपाध्याय, सहित बड़ी संख्या में अधिवक्ता गण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

जानिए इंटर के छात्र ने प्रधानाचार्य को गोली क्यों मारी, हालत नाजुक, छात्र पुलिस पकड़ से दूर