समीक्षा बैठक में कारदायी संस्थाओं गढ्ढामुक्त सड़को के बाबत दी कागजी रिपोर्ट, डीएम ने 30 नवंबर तक का दिया समय


जौनपुर। जनपद में गढ्ढायुक्त सड़को को गढ्ढामुक्त बनाने को लेकर समीक्षा बैठक में कारदायी संस्थाओं के अधिकारियों ने 88 प्रतिशत गढ्ढामुक्त करने का दावा जिलाधिकारी से किया जो पूरी तरह सच से कोसो दूर है। विभाग ने कागज पर सड़को को भले गढ्ढामुक्त कर दिया हो लेकिन भौतिक धरातल पर सड़के अधिकांश गढ्ढायुक्त बनी हुई है।उच्च स्तरीय निरीक्षण के पश्चात कारदायी संस्था के दावे की पोल खुल सकती है।
समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि जनपद की 88 प्रतिशत सड़कें गड्ढा मुक्त हो गई जिस पर जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि 30 नवंबर 2022 तक सारी सड़कें गड्ढा मुक्त हो जाएं। जनपद मुख्यालय पर देखा जाये तो सिपाह से किला तक का मार्ग जहां पर सड़क खोद कर पाइपलाइन डाली गयी है। आधी सड़क को ठीक किया गया और आधी सड़क आज भी गढ्ढायुक्त पड़ी है। इस सड़क पर जो कार्य हुआ है उसमें में सड़क के किनारे विभाग ने छोड़कर दुर्घटना को दावत दे दिया है।
सिविल लाइन मार्ग पर जोगियापुर के पास सड़क पर गढ्ढा देखा जा सकता है।मुख्यालय पर रोडवेज से टीडी कॉलेज तक मुख्य मार्ग को देखकर कारदायी संस्थाओ की कार्य स्थित का आकलन किया जा सकता है। जिलाधिकारी के द्वारा पीडब्ल्यूडी, नगर पालिका, जिला पंचायत, मंडी परिषद सहित अन्य सड़कों की विस्तार से समीक्षा की गई। उन्होंने सड़कों के नवीनीकरण कार्य की प्रगति खराब पाए जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की और सुधार लाए जाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि जिन सड़कों पर गड्ढामुक्त का कार्य पूर्ण हो चुका है तत्काल उसकी सूची उपलब्ध कराई जाए।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी साईं तेजा सीलम, अपर जिलाधिकारी भू-राजस्व रजनीश राय, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी आरडी यादव, जिला सूचना अधिकारी मनोकामना राय सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है