अशोका इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स ने पराग डेयरी का किया इंडस्ट्रियल विजिट

 
वाराणसी। अशोका इंस्टीट्यूट आफ टेक्नालाजी एंड मैनेजमेंट के बायो-टेक्नोलोजी के स्टूडेंट्स ने रामनगर स्थित प्रादेशिक कोआपरेटिव डेयरी फेडरेशन लिमिटेड (पीसीडीएफ) द्वारा संचालित पराग डेयरी का इंडस्ट्रियल विजिट किया। स्टूडेंट्स ने पराग प्लांट में मिल्क क्लेकशन, आईस-क्रीम प्रोडक्शन, मिल्क पैकेजिंग आदि यूनिटों का भ्रमण किया। पराग प्लांट के क्वालिटी कंट्रोल आफिसर हितेंद्र रावल ने दूध और उससे बनने वाले सभी उत्पादों में तकनीक के उपयोग बारे में विस्तार से जानकारी दी। 
श्री रावल ने स्टूडेंट्स को बताया कि दूध पराग यूपी में सबसे ज्यादा बिकने वाला दूध है। इस दूध को सीधे किसानों से लिया जाता है और सही दाम में मार्केट में ग्राहकों तक पहुंचाया जाता है। पराग मिल्क की प्रोसेस यूएचटी से होती है। यह ऐसा दूध है जो रेडी टू सर्व होता है। जब हम सामान्य दूध घर ले आते हैं तो हम उस दूध को गर्म करते हैं ताकि दूध के अंदर के जो बैक्टेरिया है वह खत्म हो जाए, लेकिन पराग दूध में यह सभी बैक्टेरिया पहले से ही मार दिए जाते हैं। 
इस मौके पर अशोका इंस्टीट्यूट के बायो-टेक्नालाजी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डा.आलोक कुमार यादव और फारिया खान ने स्टूडेंट्स और पराग डेयरी के अफसरों के साथ समन्वय स्थापित किया। अशोका इंस्टीट्यूट के ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट प्रभारी ओपी शर्मा की पहल पर पराग डेयरी के प्रबंधन ने आगे भी स्टूडेट्स को ट्रेनिंग के साथ ही अपने संस्थान में प्लेसमेंट देने का भरोसा दिया। ट्रेनिंग लेने वाले स्टूडेंट्स में सोम्या सिंह, आकृति सिंह, स्नेहल सोनी, मीनाक्षी झा, इलिजा अली, मानवीर सिंह, बृजेश कुमार पटेल, राजवीर प्रताप सिंह, विकास चौबे, कृष्णा पांडेय, नेहा यादव, नवाजिस खान, खुशी यादव, रियांशी पाल, पूजा कुमारी, इजा हबीबी, मोहित यादव आदि शामिल थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

यूपी कैबिनेट की बैठक में जौनपुर की इस नगर पालिका के विस्तार का प्रस्ताव स्वीकृत

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर