आईएएस दुर्गा प्रसाद मिश्रा बने यूपी के नये मुख्य सचिव, जानें इनके बारे में

प्रशासनिक हलके से बड़ी खबर आई है कि यूपी के मुख्य सचिव आरके तिवारी हटा दिये गए हैं और नए मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा बनाए गए हैं। 1984 बैच के दुर्गा शंकर मिश्रा अभी केन्द्र में आवास और शहरी मामलों के विभाग में सचिव पद पर तैनात हैं। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सीनियर IAS अधिकारी दुर्गा शंकर मिश्रा के रिटायर होने से दो दिन पहले सेवा विस्तार देते हुए उनको यूपी का मुख्य सचिव बना दिया गया है।
दुर्गा शंकर मिश्रा उत्तर प्रदेश कैडर के 1984 बैच के आईएएस अधिकारी हैं 4 दिसंबर 1961 को जन्मे दुर्गा शंकर मिश्रा उत्तर प्रदेश कैडर के 1984 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी हैं। वह दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के अध्यक्ष भी हैं।दुर्गा शंकर मिश्रा आईआईटी कानपुर से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक (बीटेक) हैं। उन्होंने वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय से अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में एमबीए की डिग्री भी हासिल की है। मिश्रा ने अंतर्राष्ट्रीय सामाजिक अध्ययन संस्थान, द हेग से सार्वजनिक नीति में स्नातकोत्तर डिप्लोमा प्राप्त किया है। इसके अलावा, मिश्रा के पास मानव संसाधन प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा भी है। 
वह आईएएस आरके तिवारी के उत्तराधिकारी के रूप में मुख्य सचिव बनाए गए हैं। 14 फरवरी 2020 को प्रदेश सरकार ने वर्ष-1985 बैच के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी आरके तिवारी को स्थाई मुख्य सचिव बनाया था। वह प्रदेश के 53वें मुख्य सचिव थे। श्री तिवारी पांच महीने 13 दिन तक कार्यवाहक मुख्य सचिव के रूप में कार्य करने के बाद स्थाई रूप से तैनात किये गए थे। श्री तिवारी की गिनती तेजतर्रार अधिकारियों में होती रही है। श्री तिवारी का कार्यकाल 2023 तक था लेकिन इन्हें बीच में ही श्री मिश्रा से रिप्लेस कर दिया गया है। चुनाव से पहले ब्यूरोक्रेसी के शीर्ष स्तर पर एक बड़ा फैसला है। आईएएस मिश्रा अपने करियर के दौरान भारत सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार दोनों में विभिन्न प्रमुख पदों पर तैनात रहे हैं, जैसे प्रमुख सचिव (नियुक्ति और कार्मिक), सचिव (कर और पंजीकरण), सचिव (स्वास्थ्य और परिवार कल्याण), प्रबंध निदेशक उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त और विकास निगम (एसडीसीएफसी), जिला मजिस्ट्रेट आगरा और सोनभद्र, कानपुर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष और उत्तर प्रदेश सरकार में कानपुर के नगर आयुक्त भी रहे हैं। श्री मिश्रा को रिटायरमेंट से दो दिन पहले मिला सेवा विस्तार चौंकाने वाला है। माना जा रहा है कि इन्हें एक साल का एक्सटेंशन मिलना तय है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

यूपी कैबिनेट की बैठक में जौनपुर की इस नगर पालिका के विस्तार का प्रस्ताव स्वीकृत

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर