सर्द हवाओ के कारण गलन बढ़ी लोग घरों में दुबकने को मजबूर,जानें क्या रहा तापमान


जौनपुर । पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता आज मंगलवार को भी बरकरार रही। दिनभर आसमान बादलों से ढका रहा। सर्द हवाओं के कारण लोग ठिठुरने के लिए मजबूर हुए। सूरज की किरणें थोड़ी देर के लिए धरती पर उतरीं, लेकिन ठंड से राहत नहीं दिला सकीं। सड़कों के कीचड़ से लथपथ होने के कारण लोगों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ा।

पहाड़ों पर कई दिनों से हो रही बर्फबारी और पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम में परिवर्तन आया है। सूरज की किरणें धरती पर उतरने के लिए संघर्ष करती रहीं, वहीं शाम होते ही ठंड से लोगों को घर में दुबकने के लिए मजबूर कर दिया है। राज्य कृषि मौसम केंद्र के प्रभारी एक के सिंह के अनुसार 15 जनवरी तक जनपद के न्यूनतम तापमान में तेजी से 5-6 डिग्री सेल्सियस की गिरावट के आसार हैं।

आसमान साफ होने के साथ विकिरणीय शीतलता बढ़ने के कारण 12 जनवरी से न्यूनतम तापमान में गिरावट आनी आरंभ हो जाएगी तथा अगले तीन-चार दिनों के दौरान न्यूनतम तापमान में चार से पांच डिग्री सेल्सियस की उल्लेखनीय गिरावट आने की संभावना है, जबकि इसी दौरान अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेंटीग्रेड के आस -पास बना रहेगा।

इसी क्रम में पिछले 24 घंटों के दौरान न्यूनतम तापमान 13.3 डिग्री सेंटीग्रेड रिकार्ड किया गया, जबकि दिन का अधिकतम तापमान 20.3 डिग्री सेल्सियस रहा। उन्होंने बताया कि निचले क्षोभमंडल में स्थिरता बढ़ने के कारण रात व प्रात:कालीन कोहरे के घनत्व में भी वृद्धि होने की संभावना है। अगले तीन-चार दिनों के दौरान मध्यम से घना कोहरा पड़ने के आसार हैं, जिसमें न्यूनतम ²श्यता 200 मीटर या उससे भी नीचे चली जाएंगी, हालांकि यह कुहरा दिन चढ़ने के साथ धीरे-धीरे स्वत: समाप्त हो जाएगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर

महज 20 रूपये के लिए रेलवे से लड़ा 22 साल मुकदमा और जीता,जानें क्या है मामला