यूपी फिर आईएएस अधिकारियों के हुए तबादले, नौ जिलो के बदले गये डीएम


प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को नौ जिलों के डीएम बदल दिए। ये बदलाव आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर भी किया गया है, क्योंकि चुनाव आयोग तीन साल का कार्यकाल पूरा कर चुके अधिकारियों को हटाने के सामान्य निर्देश देता है। इसलिए उन आईएएस अधिकारियों के जिले भी बदल दिए गए हैं, जिन्हें मार्च 2024 में वहां करीब तीन साल पूरे हो जाते।
ललितपुर के डीएम आलोक सिंह को कानपुर देहात का डीएम बनाया गया है। बिजनौर के डीएम उमेश मिश्रा को कुशीनगर और रामपुर के डीएम रवींद्र कुमार मंदर को बिजनौर का डीएम बनाया गया है। एटा के डीएम अंकित कुमार अग्रवाल को रामपुर का डीएम और भदोही औद्योगिक विकास प्राधिकरण (बीडा) के सीईओ प्रेम रंजन सिंह को एटा का डीएम बनाया गया है।
बस्ती की डीएम प्रियंका निरंजन को मीरजापुर का डीएम बनाया गया है। उनके स्थान पर मीरजापुर की डीएम दिव्या मित्तल को बस्ती भेजा गया है। गोरखपुर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष महेंद्र सिंह तवर को संतकबीरनगर का डीएम बनाया गया है। विशेष सचिव आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स अक्षय त्रिपाठी को ललितपुर का डीएम बनाया गया है। अक्षय त्रिपाठी 25 जून 2022 को लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष के पद से हटाया गया था, तब से उनकी तैनाती अपेक्षाकृत कम महत्व के पद पर चल रही थी।
इसके अलांवा यूपी में कई आईएएस अफसरों के तबादले किए गए हैं। सुभाष चन्द्र शर्मा को प्रमुख सचिव पिछड़ा वर्ग कल्याण बनाया गया है।  वह साल 1996 बैच के हैं। इसी प्रकार नरेंद्र भूषण को प्रमुख सचिव विज्ञान प्रौद्योगिकी विभाग की जिम्मेदारी दी गई है।  वह 1992 बैच के ऑफिसर हैं। इसके अलावा राज्य सरकार ने 1987 बैच के आईएएस अधिकारी हेमंत राव को राजस्व परिषद का अध्यक्ष नियुक्त किया है। परिषद के अध्यक्ष संजीव मित्तल 30 अगस्त को सेवानिवृत्त हो गए थे।

Comments

Popular posts from this blog

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल