अमृत जल योजना के तहत सीवर लाइन बिछाने वाली कार्यदायी संस्था पर मुकदमा दर्ज,अनुबंध के अनुसार काम नहीं करने का आरोप



जौनपुर। जनपद मुख्यालय पर अमृत जल योजना के तहत नगरीय क्षेत्र में सीवर लाइन बिछाने वाली कम्पनी टेक्नोक्राफ्ट कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ थाना लाइन बाजार में जल निगम की तहरीर पर लोक सम्पत्ती क्षति निवारण अधिनियम 3/5 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है। आरोप है कि विगत सात माह पूर्व तोड़ी गयी नगर क्षेत्र की सड़को को आज तक नहीं बनाया गया है। जबकि करार में यह स्पष्ट रूप से उल्लिखित है कि कम्पनी काम करते समय टूटी सड़कों को ठीक करती रहेगी। 
टेक्नोक्राफ्ट कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा सीवर लाइन डालने के लिए सड़को को खोदे जाने से सड़को की हालत पूरी तरह से खस्ताहाल हो गयी है। सड़क पर लोंगो को चलना मुश्किल हो गया है। वहीं वर्षात के मौसम में जगह जगह पर जल जमाव की स्थित बन गयी है। जिसके कारण शहर में संक्रामक रोगो को फैलने की संभावनायें प्रबल हो गयी है। 
बतादे कुछ दिन पहले जौनपुर दौरे पर आए जिले के प्रभारी मंत्री उपेन्द्र तिवारी के समक्ष इस कम्पनी का मामला उठा था तो मंत्री ने एक सप्ताह में नगर क्षेत्र की सभी सड़को को ठीक करने को कहा था इसके बाद भी कम्पनी ने ध्यान नहीं दिया और हालत लगातार ख़राब होती गयी अब बद से भी बदतर हो गयी है। 
आरोप पत्र में टीडी कालेज रोड, रोडवेज मार्ग, सिविल लाइन मार्ग, जज कालोनी मार्ग, मियांपुर हुसेनाबाद राजकीय कालोनी मार्ग, कलीचाबाद, किला मार्ग आदि का जिक्र किया गया है जिसमें सीवर लाइन बिछाने के बाद सड़क को नहीं बनाया गया है। इतना ही नहीं श्रीराम कालोनी, खटिक बस्ती, हाईडिल रोड, टीवी अस्पताल रोड सहित नगर क्षेत्र की लगभग सभी कालोनियों के गलियों को खोद कर छोड़ दिया गया है। 
तोड़ फोड़ की वजह से नालियां जाम होने के कारण गंदा पानी पूरे गली में फैला रहता है और लगभग पूरा शहर जल जमाव की समस्या से जूझ रहा है। नगर क्षेत्र में पड़ने वाले एन एच मार्ग आजमगढ़ जौनपुर मार्ग पर पंचहटिया में लगभग दो किलोमीटर तक सड़क कहां है पता करना कठिन हो गया है। पानी गड्ढा कचरा बना हुआ है। प्रतिदिन इसमें दस बीस लोग गिरते नजर आते है। लेकिन कम्पनी के उपर कोई असर नहीं है। इन सब परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी के निर्देश पर अपर जिलाधिकारी भू-राजस्व राजकुमार द्विवेदी ने जल निगम के अधिशासी अधिकारी राजेश कुमार गुप्ता को सम्बन्धित फर्म के खिलाफ मुकदमा लिखाने का आदेश दिया गया। जल निगम द्वारा तहरीर दिये जाने के बाद  मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है थाना प्रभारी ने जानकारी दिया है कि मुकदमा दर्ज करने के बाद अब विवेचना शुरू कर दिया गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

चाचा भतीजी में हुआ प्यार, फिर फरार, पकड़े जाने पर हुई दैहिक समीक्षा, अब शादी की तैयारी

58 हजार ग्राम प्रधानो को लेकर योगी सरकार ने लिया अब यह फैसला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम