सपा ने एम एल सी के लिए इन 18 लोंगो को बनाया पार्टी का प्रत्याशी



समाजवादी पार्टी  ने विधान परिषद चुनाव  के लिए अपने 18 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। इसमें कई पुराने नाम शामिल हैं जो सपा प्रमुख के करीबी माने जाते हैं। स्थायी निकाय कोटे की 36 सीटों पर 9 अप्रैल को मतदान होगा। इसके लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। सपा और बीजेपी में एक बार फिर एमएलसी चुनाव में मुकाबला होगा। 2016 में अखिलेश यादव  जब मुख्यमंत्री थे एमएलसी का चुनाव हुआ था और उन्हें एकतरफा जीत हासिल हुई थी। इनमें से आठ निर्विरोध निर्वाचित हुए थे।
सपा के घोषित 18 प्रत्याशी बाराबंकी: राजेश कुमार यादव इलाहाबाद: बासुदेव यादव खीरी: अनुराग वर्मा, जौनपुर: मनोज कुमार, बस्ती, सिद्धार्थनगर: संतोष यादव गोरखपुर, महाराजगंज: रजनीश यादव झांसी, जालौन, ललितपुर: श्यामसुंदर सिंह लखनऊ, उन्नाव: सुनील कुमार सिंह रामपुर, बरेली: मशकूर अहमद रायबरेली: वीरेंद्र शंकर सिंह फैजाबाद: हीरालाल यादव आजमगढ़, मऊ: राकेश कुमार यादव मथुरा, एटा, मैनपुरी: उदयवीर सिंह बहराइच: अमर यादव वाराणसी: उमेश पीलीभीत, शाहजहांपुर: अमित यादव
प्रतापगढ़: विजय बहादुर यादव आगरा, फिरोजाबाद: दिलीप सिंह यादव अब तक सपा ने 19 प्रत्याशियों की घोषणा की इससे पहले अखिलेश यादव ने कल मंगलवार को कुशीनगर देवरिया से गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बाल रोग विशेषज्ञ रहे डॉ कफील को अपना प्रत्याशी घोषित किया था इस तरह अब तक सपा ने 18 प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। इस 36 सीटों पर चुनाव के बाद अगर भारतीय जनता पार्टी इसमें से फतेह हासिल करती है तो उसका उच्च सदन में भी बहुमत हो जाएगा अभी तक विधान परिषद में समाजवादी पार्टी का बहुमत था। कांग्रेस की बात करें तो मात्र एमएलसी दीपक सिंह का भी कार्यकाल जल्दी खत्म होने वाला है इसके बाद उनकी संख्या विधान परिषद में शून्य हो जाएगी वहीं बहुजन समाज पार्टी के एक सदस्य अभी 2024 तक रहेंगे। उसके बाद उनकी भी संख्या शून्य हो जाएगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन