देवेन्द्र भट्ट गुरूजी बता रहे है होलिका दहन व रंगोत्सव का शुभ मुहूर्त जानें है क्या


होलिका दहन फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को रात्रि में किए जाने का विधान है। इस वर्ष फाल्गुन शुक्ल पक्ष पूर्णिमा बृहस्पतिवार 17 मार्च को दोपहर 01:01 बजे प्रारंभ होगा। इसके साथ ही भद्रा भी प्रारंभ होगी। भद्रा की समाप्ति 17 मार्च की रात्रि 12:56 बजे होगी। तत्पश्चात होलिका दहन संपन्न किया जाएगा। 
पूर्णिमा की यह तिथि 18 मार्च शुक्रवार को दोपहर 12:51 बजे तक है। तत्पश्चात चैत्र कृष्ण प्रतिपदा प्रारंभ होगी। रंगोत्सव(धुलनदी) के लिए विधान है कि काशी से अन्यत्र यह उस तिथि को मनाई जाती है जिसमे सूर्योदय काल चैत्रमास प्रतिपदा हो। चूंकि चैत्र कृष्ण प्रतिपदा का सूर्योदय 19 मार्च को है अतः पूरे देश में रंगोत्सव 19 मार्च शनिवार को मनाया जाएगा। 
काशी में उस तिथि को रंगोत्सव होता है जिस तिथि में फाल्गुन पूर्णिमा मिश्रित चैत्र प्रतिपदा हो। यह संयोग शुक्रवार को है अतः सिर्फ काशी की होली 18 मार्च को संपन्न होगी। 
देवेंद्र भट्ट (गुरु जी)

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन