लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटी सपा ने पूर्वांचल में खुद को मजबूत करने लिए बनाया यह प्लान


समाजवादी पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2024 में पूर्वांचल का रण जीतने के ल‍िए अभी से तैयारी शुरु कर दी है। व‍िधानसभा चुनाव के बाद आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीट पर म‍िली हार से सबक लेकर सपा खुद को मजबूत करना चाहती है। इसके ल‍िए अख‍िलेश यादव ने कई ठोस कदम उठाए हैं। वहीं अब सपा देश बचाओ देश बनाओ समाजवादी पदयात्रा भी निकालने जा रही है।

अख‍िलेश पूर्वांचल में चाहते हैं सपा का दबदबा लोकसभा चुनाव 2024 को ध्‍यान में रखते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसका प्लान तैयार कर लिया है।  सपा को मजबूत करने के ल‍िए पदयात्रा की शुरुआत नौ अगस्त को अगस्त क्रांति दिवस के मौके पर गाजीपुर से होगी। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अलग होने के बाद अब सपा पूर्वांचल के जिलों को मजबूत करने में जुट गई है।गाजीपुर से सपा शुरु करेगी समाजवादी पदयात्रा सपा नौ अगस्त से गाजीपुर जिले से देश बचाओ देश बनाओ समाजवादी पदयात्रा निकालेगी। यात्रा का पहला चरण गाजीपुर, बलिया, मऊ, जौनपुर, भदोही होते हुए 27 अक्टूबर को वाराणसी में खत्म होगा। प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने इसका कार्यक्रम जारी कर दिया है।

सपा ने इस यात्रा की अगुवाई का जिम्मा गाजीपुर के सपा नेता अभिषेक यादव को सौंपा है।सपा को मजबूत बनाने के ल‍िए चलेगा सदस्यता अभियान यात्रा 27 अगस्त को बलिया, आठ सितंबर को मऊ, 15 सितंबर को आजमगढ़, तीन अक्टूबर को जौनपुर, 14 अक्टूबर को भदोही, 19 अक्टूबर को वाराणसी पहुंचेगी। 27 अक्टूबर को पदयात्रा के पहले चरण का समापन होगा। प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने बताया कि पदयात्रा जिन जिलों से गुजरेगी उनके समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) कार्यालयों तथा सभी विधानसभा क्षेत्रों, तहसीलों और ब्लाकों में पहुंचेगी। यात्रा में समाजवादी पार्टी सदस्यता अभियान, तिरंगा झंडा अभियान, नुक्कड़ सभा, जुलूस, संगोष्ठी, पौधारोपण और पर्यावरण के प्रति जनजागरूकता के कार्यक्रम होंगे।अखिलेश ने की आजमगढ़ उपचुनाव में मिली हार की समीक्षा सपा अध्यक्ष अखिलेश ने आजमगढ़ और रामपुर सीट पर हुए लोकसभा उपचुनाव में हार की समीक्षा की। उन्होंने आजमगढ़ के सभी विधायकों एवं वरिष्ठ पदाधिकारियों को प्रदेश कार्यालय में बुलाया था। इसमें अखिलेश ने कहा कि जिस बूथ पर विधानसभा चुनाव के मुकाबले लोकसभा उपचुनाव में कम वोट मिले हैं उन पर नए सिरे से ध्यान केंद्रित किया जाए। उन्होंने पार्टी नेताओं को एकजुट रहने और अभी से वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने के निर्देश दिए।

विधानसभा चुनाव में म‍िली हार के बाद सपा  मुखिया अखिलेश यादव  ने उत्तर प्रदेश में पार्टी को गतिशील बनाने की जिम्मेदारी 72 नेताओं को सौंपी है। वहीं ओपी राजभर के सपा से दूर होने के बाद अख‍िलेश यादव हर मोर्चे पर खुद को और पार्टी को बेहद मजबूत करना चाहते हैं।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जफराबाद विधायक को हार्ट अटैक फस्टेड के बाद, मेदान्ता के लिए रेफर

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर

योगी सरकार ने यूपी में आज फिर 12 आईएएस का तबादला, देखे सूची