जिन लोगो ने मेरे पति को फंसाया और सजा कराई वह धनंजय सिंह की हत्या भी करा सकते है- श्रीकला धनंजय सिंह रेड्डी

जौनपुर। नमामि गंगे प्रोजेक्ट के मैनेजर अभिनव सिंघल के अपहरण और रंगदारी टैक्स मांगने के आरोप में लोअर कोर्ट से सात साल की सजा से दण्डित होने के बाद जिले के बाहुबली नेता एवं पूर्व सांसद धनंजय सिंह द्वारा हाईकोर्ट में दाखिल जमानत और लोअर कोर्ट के फैसले के स्थगन को लेकर दाखिल याचिका में सुनवाई के बाद धनंजय सिंह को जौनपुर की जेल से हटाने और हाईकोर्ट से जमानत आदेश मिलने के पश्चात धनंजय सिंह की पत्नी एवं बसपा से लोकसभा की प्रत्याशी श्रीकला धनंजय सिंह रेड्डी मीडिया से रूबरू होते हुए आरोप लगाया कि जिन लोगो ने राजनैतिक कारणो से मेरे पति को फर्जी मुकदमें में फंसा कर सजा करवाया वही लोग उनकी हत्या करा सकते है। श्रीकला ने प्रधानमंत्री भी आरोप लगाया कि मंगल सूत्र की रक्षा की बात करने वाले प्रधानमंत्री के सरकार काल में मेरे मंगल सूत्र पर संकट पैदा कर दिया गया है।
श्रीमती श्रीकला ने एक मार्मिक अपील करते हुए कहा कि हम धर्म युद्ध कर रही हूँ इस धर्म युद्ध में माताओ बहनो और भाईयो के सहारा की जरूरत है।एक बहू के सिन्दूर और सुहाग को बचाने सभी के साथ की जरूरत है। धनंजय सिंह लगातार बिना रूके बिना थके जौनपुर के लोगो की सेवा करते रहे और जनता के हितो की लड़ाई में कभी समझौता नहीं किए है यही उनका गुनाह है। इसीलिए उनको जेल की सींखचों में कैद किया जा रहा है।
श्रीकला ने कहा जब हाईकोर्ट में जमानत याचिका पर बहस हो गई और शनिवार को फैसला आना था तो सत्ता के विरोधी लोग घबरा गये और मेरे पति धनंजय सिंह को शनिवार की सुबह जौनपुर जेल से बरेली जेल भेज दिया गया। न्यायालय के आदेश को आने तक का इंतजार और उसका सम्मान करना जरूरी नहीं समझा। जिन लोगो ने मेरे पति पर हमला कराया आज वो सत्ता में पहुंच गए है। मेरे पति धनंजय सिंह की हत्या करवा सकते है अथवा फर्जी मुकदमें में फंसा सकते है। अब यह लड़ाई सिर्फ मेरी नही है।जौनपुर के हर एक व्यक्ति की है। यह लड़ाई एक बहू के सिन्दूर को बचाने की लड़ाई है।आपके इस बेटे के जान को बचाने की लड़ाई है। हम जनपद वासियों की आवाम के सामने अपना आंचल फैला कर सभी के प्यार, आशिर्वाद की अपेक्षा है।आपके बिना कुछ नही आपके आशिर्वाद हमारी ताकत बनेगे। अब वोट के सौदागरो को जबाव देने का समय आ गया है।

Comments

Popular posts from this blog

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा