तेज रफ्तार का कहर: दो भाइयो सहित तीन की दर्दनाक मौत परिवार में कोहराम जानें कारण


जौनपुर। जिले के खुटहन थाना क्षेत्र के शाहगंज प्रयागराज राजकीय राजमार्ग-7 पर गोसाईंपुर नहर के मोड़ पर शुक्रवार की सुबह कार की टक्कर से बुलेट सवार दो चचेरे भाइयों की दर्दनाक मौत हो गई। मौका पाकर चालक कार लेकर फरार हो गया। बेटों की मौत की खबर मिलते ही घर में कोहराम मच गया।
सरपतहां थाना क्षेत्र के भटौली पट्टी नरेंद्रपुर गांव निवासी शिवम सिंह (23) पुत्र राजेश अपने चचेरे भाई आयुष सिंह (21) पुत्र सुरेश को अपनी बुलेट मोटरसाइकिल पर बैठाकर शाहगंज किसी काम से गया था। वहां से लौटते समय गोसाईंपुर नहर मोड़ के पास सामने से आ रही तेज रफ्तार कार से टक्कर हो गई। 
घटना की जानकारी होते ही मृतकों के परिजन अस्पताल पहुंच गए। उनके रोने बिलखने से पूरा माहौल गमगीन हो गया। पुलिस दोनों शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।पुलिस के मुताबिक आयुष ने इसी वर्ष इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की है। वहीं, शिवम पढ़ाई नहीं करता था, सिर्फ घर पर रहता था। आयुष अपने मां-बांप का अकेला लड़का था। वहीं, शिवम तीन भाई और एक बहन में सबसे छोटा था।
जिले के मछलीशहर कोतवाली के आनापुर छाछो मोड़ के निकट तगादा कर लौट रहे व्यापारी की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। कोतवाली पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।मंगल बाजार निवासी आनंद अग्रहरि (42) किराना सामग्री की आपूर्ति ग्रामीण इलाकों की छोटी दुकानों पर करते थे। इसके अलावा अन्य छोटे मोटे सामान भी अपनी बाइक से ही सप्लाई करते थे। 
देर रात्रि सिकरारा थाना क्षेत्र के समाधगंज बाजार से तगादा कर अपनी बाइक से घर लौट रहे थे। वह छाछो मोड़ के निकट पहुंचे थे कि उनकी आगे चल रहे डीजे वाहन से टक्कर हो गई। टक्कर इतनी तेज थी कि आनंद के सिर में गंभीर चोट आई। 
मौके पर इकट्ठा हुए लोगो ने एंबुलेंस की सहायता से मछलीशहर सीएचसी भेजा। जहां चिकित्सक ने आनंद की हालत नाजुक देख जिला अस्पताल रेफर कर दिया। किंतु जिला अस्पताल पहुंचने से पहले ही आनंद की मौत हो गई। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 
आनंद चार भाई थे। सभी भाई अलग-अलग रहते थे। आनंद अपने छोटे से व्यवसाय से परिवार का भरण पोषण करते थे। उनकी तीन संतान में बड़ा बेटा अमन (17) का है। जबकि उससे छोटी बेटी नंदनी (15) और छोटा बेटा छोटू अभी मात्र दस वर्ष का है। आनंद की पत्नी सुमन का मौत की सूचना मिलने के बाद रो-रोकर बुरा हाल है। अब परिवार के पालन पोषण को लेकर चिंतित है।

Comments

Popular posts from this blog

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा