पंचायत चुनावः मतदाता सूची में नाम जोड़ने और काटने की जाने क्या कीमत वसूल रहे कर्मचारी




जौनपुर। जौनपुर पंचायत के इस चुनाव में जीत हार तो बाद की बात है कि किसके हाथ लगेगी गांव की सरकार लेकिन अभी विकास भवन के तृतीय तल पर स्थित निर्वाचन कार्यालय के लोगों द्वारा चुनाव लड़ने वालों को आर्थिक रूप निचोड़ लिए जाने का खेल खुले आम खेला जा रहा है। अधिकारी से लेकर हर जिम्मेदार न जाने क्यो बेखबर पड़ा हुआ है। मुंह मांगी धनराशि लेकर मतदाता सूची में बड़ी हेरा फेरी किया जा रहा है। 
खबर मिली है कि यहां निर्वाचन कार्यालय में मतदाता सूची उपलब्ध कराने की कीमत पांच सौ से एक हजार रूपये की वसूली की जा रही है। इतना ही नहीं खबर तो यह भी मिली है कि मतदाता सूची में नाम बढ़ाने और काटने दोनों के लिये पांच सौ रूपये प्रति मतदाता के हिसाब से वसूली होती है और रात्रि में सूची में नाम जोड़ने से लेकर काटने तक का काम हो रहा है।
इस गोरख धन्धे में विभाग के लोग माला माल हो रहे हैं। सूत्र की माने तो सूची में नाम जोड़ने से लेकर काटने तक का काम रात्रि में लगभग  दस बजे के बाद ही किया जाता है। मरता क्या न करता चुनाव लड़ने वाला गांव की सरकार का हिस्सा बनने के लिए निर्वाचन के बाबू की बातें मानने को मजबूर हैं। जान बूझ कर शोषण का शिकार हो रहा है। नाम गोपनीय रखने की शर्त पर एक भुक्त भोगी ने बताया कि उसके गांव के लगभग पचास लोगों का नाम मतदाता सूची से गायब हो गया था उसे जोड़ने के लिए खुले आम 50 हजार रूपये की मांग की गयी पैसा देने के बाद ही सूची में नाम जोड़ा जा सका है। सम्बन्धित व्यक्ति ग्राम प्रधान का चुनाव लड़ रहा है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक

पूर्वांचल की राजनीति का एक किला आज और ढहा, सुखदेव राजभर का हुआ निधन