पूर्व मंत्री स्व पारस नाथ यादव की प्रथम पूण्य तिथि सपाईयों ने मनाया



जौनपुर। समाज वादी पार्टी के संथापक सदस्यों में शामिल रहे जनपद के कद्दावर नेता एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वर्गीय पारस नाथ यादव की प्रथम पुण्यतिथि आज शनिवार को उनके नगर में स्थित पंचहटिया स्थित ओम कोल्डस्टोरेज पर मनायी गयी ।
बता दें  जनपद के दक्षिणान्चल में स्थित मड़ियाहूं तहसील क्षेत्र के आदमपुर ( कारो ) गांव के निवासी पारस नाथ यादव पहली बार 1985 में जिले के बरसठी विधानसभा क्षेत्र से दमकिपा से विधायक चुने गए थे । उसके बाद इसी विधानसभा क्षेत्र से 1989 में जनतादल से चुनाव जीते और प्रदेश सरकार में मंत्री बने । इसके बाद बरसठी विधानसभा क्षेत्र से 1993 में समाजवादी पार्टी के टिकट पर विधायक बने मुलायम सिंह यादव की सरकार में कैबिनेट मंत्री बने । 1996 में इन्होंने अपना चुनाव क्षेत्र बदल कर मड़ियाहूं से चुनाव  लड़े और विधायक चुने गए । 2002 में पुनः इसी विधान सभा से विधायक बने। वर्ष 2012 में एक बार फिर अपना चुनाव क्षेत्र बदल कर नवगठित विधानसभा क्षेत्र मल्हनी को चुना और वहां से विधायक बने इस नयी विधानसभा के पहले विधायक बने ,प्रदेश में अखिलेश यादव की सरकार में ये कैबिनेट मंत्री बने , इसके बाद 2017 में मल्हनी से ही भाजपा लहर के बावजूद फिर सपा के विधायक बने । विधायक के साथ ही साथ पारस नाथ यादव जौनपुर लोकसभा से 1998 और 2004 में समाजवादी पार्टी के सांसद भी चुने गए थे ।स्व यादव सात बार विधायक , दो बार सांसद और तीन बार प्रदेश सरकार में मंत्री भी रहे हैं । स्व यादव से सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव से नजदीकी रिस्ता रहा है।
जनपद ही नहीं  पूर्वांचल में पार्टी को आगे बढ़ाने में स्व यादव ने अपने जीवन काल में बड़ा योगदान दिया था। कार्यक्रम में मुख्य रूप विधायक शैलेन्द्र यादव ,जगदीश सोनकर, जिलाध्यक्ष लालबहादुर यादव ,पूर्व विधायक गुलाब सरोज, डां के पी यादव प्रवक्ता राहुल त्रिपाठी, आरबी यादव ,जे पी यादव उपस्थित रहे पूण्यतिथि में आये हुये सभी अतिथियों का स्व०पारसनाथ जी के पुत्रगण विधायक मल्हनी लकी यादव एवं ओम यादव तथा वेद यादव ने आभार व्यक्त किया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

आइए जानते है मुन्ना बजरंगी के भाई को पुलिस ने क्यों किया गिरफ्तार