जनता ने खुद चुनाव लड़कर हमें जीत की माला पहनाया हमारी जिम्मेदारी है कि उनके विश्वास पर खरा उतर सकूँ - जगदीश नरायन राय


सरकारी तंत्र को विधायक की चेतावनी जनता के साथ कोई भी गलत और कानून के विपरीत काम करने की कोशिश की और किसी के दबाव में परेशान किया तो दंड भी भुगताने को तैयार रहें। 

जौनपुर। जनपद में समाजवाद के ध्वज बाहक एवं राजनीति के स्तंभ पुरूष पूर्व मंत्री जफराबाद विधान सभा क्षेत्र के नव निर्वाचित विधायक जगदीश नारायन राय ने आज सच खबरें से बात करते हुए कहा कि विधान सभा के चुनाव में मिली जीत हमारे लिए कोई नयी नहीं है लेकिन हमें इस जीत पर खुशी इसलिए है कि जनता ने स्वयं हमारे लिए चुनाव लड़ा और जीत हमारी झोली में उड़ेल दिया है। दस वर्षो के अंतराल के बाद जो जिम्मेदारी मिली है उसमें चुनौतियां भी गम्भीर है। हम इस चुनौती को स्वीकार करते हुए पूरा प्रयास करूँगा कि जनता के विश्वास पर खरा उतर सकूँ। उन्होंने तल्ख शब्दो में सरकारी तंत्र को चेतावनी भी दी कि जनता के साथ किसी को किसी भी कीमत पर गलत कार्य नहीं करने दूंगा चाहे इसके लिए हमें कुछ भी जंग लड़ना होगा हम तैयार है। 
श्री राय ने विधान सभा के आवम की समस्याओ का जिक्र करते हुए कहा कि विगत पांच वर्षो में क्षेत्र के गरीब दलित कमजोर शोषित समाज के लोंगो को उलझा कर रखा गया अब क्षेत्र से पुलिसिया उत्पीड़न और जमीनी विवाद की समस्यायें अधिक आ रही है। कानून को अपना काम नहीं करने दिया गया था हमारा प्रयास होगा कि कानून इमानदारी से न्यायपूर्ण ढंग से बिना किसी दबाव में अपना काम करे और ताकि गरीब दबे कुचले पिछड़े समाज को न्याय मिल सके। लोंगो को लगे कि यहां पर कानून का ही राज चलेगा। साथ ही सरकारी तंत्र खास कर पुलिस विभाग को चेतावनी दी कि अगर किसी के दबाव में कमजोर व्यक्ति के साथ अन्याय करने की कोशिश की तो इसके दुष्परिणाम को भी झेलने के लिए तैयार रहे जनता के लिए हम सीधी लड़ाई सड़क से सदन तक लड़ने को तैयार भी है। उन्होंने विधान सभा की जनता को भी अश्वस्त किया कि वह निश्चिंत रहे अगर किसी ने उनके साथ अन्याय किया तो हम स्वयं सीधी लड़ाई लड़ेंगे। 
इसी क्रम में विधायक श्री राय ने कहा कि विगत दस साल पूर्व विधान सभा क्षेत्र में यातायात व्यवस्था को सुविधाजनक और सुगम बनाने के लिए जितने पुलो और मार्गो को स्वीकृत करा कर काम कराया था वह उपेक्षाओ के कारण आज वह जर्जर स्थिति की तरफ जा रहे है विधायक बनने के बाद सपथ लेते ही उन सभी पुलो और सड़को को बनवाने और मरम्मत के लिए पत्राचार शुरू कर दिया है साथ ही विधान सभा क्षेत्र में कई जगहों पर रेलवे क्रॉसिंग के चलते जाम की समस्या रहती इससे निजात दिलाने के लिए सरकार को पत्र प्रेषित किया है इसमें जफराबाद और जलालपुर, सलखापुर, गुतवन में फ्लाई ओवर बनाने की मांग बजरिए पत्र शुरू किया है। सफलता मिलने की उम्मीद है। 
युवाओ के समक्ष व्याप्त रोजी रोजगार की जबरदस्त समस्या का जिक्र करते हुए श्री राय ने कहा कि युवाओ के रोजगार को लेकर चिन्तायें तो हमारे लिए चुनौतीपूर्ण है हमारा पूरा प्रयास होगा कि सरकार अगर बेरोजगार युवाओ के लिए कोई भी सकारात्मक योजना बनायेगी तो हम पूरा प्रयास करेगे कि योजना का लाभ जफराबाद विधान सभा क्षेत्र के युवाओ को मिल सके। इस दिशा में भी सपथ ग्रहण के बाद से ही विधान सभा के अन्दर सवाल लगाना शुरू कर दिया है अब सरकार के जबाव का इन्तजार है। 
विधान सभा क्षेत्र में स्वास्थ्य की चर्चा करते हुए कहा कि हमने दस साल पहले जितने सीएचसी को स्वीकृत करा के बनवाया था।देखने को अब यह मिल रहा है कि मानक के अनुरूप कोई काम नहीं हो रहा है हमने क्षेत्र में एक ट्रामा सेंटर बनवाया था वह भी अव्यवस्थित चल रहा है। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों सहित शासन में बात करके सभी सीएचसी और ट्रामा सेंटर पर स्वास्थ्य सुविधाओ को बढ़ाने का काम किया जाना है ताकि जतना के स्वास्थ्य को लेकर कोई समस्या न आ सके। इसके अलांवा पुरानी सीएचसी जिसके भवन आदि जर्जर हो चुके है उसके नये भवन बनवा कर उसे आधुनिक उपकरणो से लैस कराया जायेगा ताकि उपचार में कोई दिक्कत न आ सके। 
पेय जल आदि की समस्या का जिक्र करते हुए कहा कि गांव गांव में जल निगम द्वारा पाइप लाइन के जरिए पानी पहुंचाने के लिए नयी पानी की टंकी बनवाने के साथ साथ पुरानी टंकियों के मरम्मत का भी काम कराया जायेगा। कार्ययोजना तैयार की जा रही है। जनपद में सरकारी तंत्र द्वारा चलाये जा रहे बुलडोजर के सवाल पर विधायक श्री राय ने कहा कि चलो ठीक है सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाए जा रहा है लेकिन जब कब्जा हो रहा था उस समय प्रशासन के लोग आंखे क्यों बन्द किये थे कब्जा करने वालों के साथ साथ तो अधिकारी भी जिम्मेदार है आखिर उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण हटाये जाने के नाम पर बड़ी बड़ी वेल्डिंगो को ध्वस्त करना पूरी तरह से अनुचित और गैर-कानूनी है। पीड़ित व्यक्ति को इस अन्याय के खिलाफ न्याय पालिका की शरण में जाना चाहिए कानून किसी के दबाव में नहीं है। श्री राय ने कहा विधान सभा चलने पर यह मुद्दा विधान सभा में जरूर उठाया जायेगा।
इसके बाद शिक्षा की चर्चा करते हुए पूर्व मंत्री एवं विधायक श्री राय ने कहा कि एक तरफ सरकार निःशुल्क शिक्षा की बात करती है दूसरी ओर प्राइवेट विद्यालयों की फीस में 10 प्रतिशत  की वृद्धि कर दिया है आखिर यह दोहरी नीति क्यों अपनायी जा रही है। सरकार इस वृद्धि आदेश को वापस ले अन्यथा सरकार के शिक्षा नीति पर व्यापक असर पड़ना तय है। साथ ही गरीब कमजोर किसान पिछड़े समाज के बच्चे अच्छी और उच्च शिक्षा से वंचित रह जायेंगे। सरकार की शिक्षा नीति कागजी बाजीगरी का खेल बनकर रह जाएगी। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम