अशोका इंस्टीट्यूट में धूमधाम से मनाया गया इंजीनियर्स डे

समर्पण की अद्भुत मिसाल थे विश्वेश्वरैयाः इंजी. वीरेंद्र शर्मा
 वाराणसी। अशोका इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट में भारत रत्न महान इंजीनियर डॉ एम विश्वेश्वरैया का जन्मदिन को इंजीनियर्स डे के रूप में मनाया गया। स्टूडेंट्स और टीचर्स ने डॉ विश्वेश्वरैया की प्रतिमा पर मार्ल्यापण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। अल्ट्राटेक सीमेंट के डिप्टी मैनेजर (टेक्निकल) इंजीनियर वीरेंद्र शर्मा ने कहा कि एम विश्वेश्वरैया समर्पण की अद्भुत मिसाल थे। उन्होंने भारत के अलावा दुनिया भर में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया था। विकास कार्यों में उनकी अतुलनीय भूमिका की वजह से उन्हें नए भारत का भागीरथ कहा जाता है।
अशोका इंस्टीट्यूट में आयोजित इंजीनियर्स डे पर श्री शर्मा ने कहा कि सिविल इंजीनियरिंग का रुतबा बढ़ता जा रहा है। देश के युवा रियल एस्टेट के अलावा पुल निर्माण, सड़कों की रूपरेखा, एयरपोर्ट, ड्रम, सीवेज सिस्टम आदि को अपने कौशल द्वारा आगे ले जाने का कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सिविल इंजीनियरिंग का कार्यक्षेत्र काफी व्यापक है। जरूरत इस बात की होती है कि छात्र अपनी सुविधानुसार किस क्षेत्र का चयन करते हैं? इसके अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों में हाइड्रॉलिक इंजीनियरिंग, मेटेरियल इंजीनियरिंग, स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग, अर्थक्वेक इंजीनियरिंग, अर्बन इंजीनियरिंग, एनवायर्नमेंटल इंजीनियरिंग, ट्रांसपोर्टेशन इंजीनियरिंग और जियो टेक्निकल इंजीनियरिंग आदि आते हैं। देश के साथ-साथ विदेशों में भी कार्य की संरचना बढ़ती जा रही है। प्रमुख कंपनियों के भारत आने से यहां भी संभावनाएं प्रबल हो गई हैं।
अशोका इंस्टीट्यूट की निदेशक डा.सारिका श्रीवास्तव ने सिविल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में हो रहे इनोवेशन  और शोध के बारे में स्टूडेंट्स को जानकारी दी। इससे पहले उन्होंने एम.विश्वेश्वरैया के चित्र पर माल्यार्पण कर स्वागत  किया। सिविल इंजीनियरिंग सोसाइटी की ओर से अल्ट्राटेक सीमेंट के डिप्टी मैनेजर (टेक्निकल) इंजीनियर वीरेंद्र शर्मा को स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर राजीव मिश्रा, धर्मेंद्र दुबे, प्रशांत गुप्ता, शुभम विश्वकर्मा, तुषार पटेल, राहुल सिंह, शाहरूक अली ने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन अभिषेक राय, शिवम चौबे और चंद्रकांत वर्मा ने किया।
अशोका इंस्टीट्यूट के बायोटेक इंजीनियरिंग विभाग में भी इंजीनियर्स डे धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर इंजीनियर्स की भूमिका पर संवाद कार्यक्रम आयोजित किए गए। स्टूडेंट्स ने बायोटेक इंजीनियरिंग के महत्व को रेखांकित किया। इस मौके डा.फरहान अहमद, अर्जुन कुमार, तितिक्षा मिश्रा, रितेश जायसवाल ने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन ज्योति सिंह, युवराज मौर्य, सुधीर मौर्य ने किया। इलेक्ट्रानिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग में क्विज का आयोजन किया गया। साथ ही सर्किट मेकिंग प्रतियोगिता और निबंध प्रतियोगिता आयोजित की गई। कार्यक्रम को सफल बनाने में विभागाध्यक्ष संदीप मिश्र के अलावा अभ्युदय उपाध्याय, साहिल सिंह, नवनीत तिवारी, प्रगति सिंह ने प्रमुख भूमिका निभाई। कंप्यूटर इंजीनियरिंग और मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभागों में भी इजीनियर्स डे मनाया। इस अवसर पर क्विज, गीत-संगीत के कार्यक्रम आयोजित किए गए।
          

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मौसम विभाग का एलर्ट इन 23 जिलो में हवाओ के साथ होगी बरसात

दुर्गा पूजा पंडाल में लगी आग छ: की मौत 50 से अधिक झुलसे सभी बीएचयू ट्रामा सेंटर रेफर

खाकी वर्दी में घूम रहा नकली फर्जी, जालसाज इंस्पेक्टर गिरफ्तार, लड़क‍ियों की श‍िकायत