आखिर हिस्ट्रीशीटर ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या क्यों किया रहस्य से नहीं उठा पर्दा, छानबीन जारी

जनपद प्रयागराज में हिस्ट्रीशीटर ब्रह्मदेव दूबे उर्फ  सुल्ली (24) ने खुद को गोली से उड़ा लिया। रात नौ बजे के करीब वह अपने घर थाना क्षेत्र खीरी के कैथवल कटनहवा गांव पहुंचा और सीधे अपने कमरे में जाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने तमंचा बरामद करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। ब्रह्मदेव पुत्र अरुण कुमार दुबे खीरी थाने का हिस्ट्रीशीटर था। उस पर मेजा, शंकरगढ़, मुट्ठीगंज, खीरी व प्रतापगढ़ के उदयपुर में दर्जनों गंभीर मामले दर्ज हैं। अक्टूबर में मांडा के बरहा कलां गांव में मिनी बैंक संचालक राजीव विश्वास से 1.8 लाख रुपये लूटने में वह वांछित चल रहा था। 
13 अक्टूबर को हुई इस वारदात में वह और उसके दो साथी शामिल थे। तीन नवंबर को कुशलपुर गांव के पास मुठभेड़ के दौरान मेजा उरुवा निवासी सौरभ मिश्रा उर्फ  आकाश व मांडा के बहेलियापुर गांव निवासी मोनू भारतीया को पुलिस ने मुठभेड़ में गिरफ्तार किया था, जबकि ब्रह्मदेव की तलाश की जा रही थी। 
पुलिस ने बताया कि वह लंबे समय से फरार चल रहा था। शुक्रवार रात दस बजे के करीब वह घर आया और सीधे अपने कमरे में चला गया। कुछ देर बाद गोली चलने की आवाज सुनकर घरवाले कमरे में पहुंचे तो वह खून से लथपथ मृत पड़ा मिला। उसे गोली लगी थी और बगल में तमंचा पड़ा था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने तमंचा कब्जे में लेकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 
इंस्पेक्टर वीरेंद्र कुमार सोनकर ने बताया कि मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। उसने खुदकुशी क्यों की, इस बारे में घरवाले भी कुछ बता नहीं पाए हैं। पोस्टमार्टम आज शनिवार को कराया जा रहा है।

Comments

Popular posts from this blog

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा