संसद भवन में घुस कर अराजकता फैलाने वालो में एक युवक निकला यूपी का, हलांकि उसके परिवार से पूछताछ जारी है


22 साल फिर संसद के सुरक्षा की पोल सारे दावे झूठे निकले

संसद के उपर 22 साल पहले 13 दिसम्बर को हुए हमले की बरसी पर फिर 13 दिसम्बर को फिर संसद में घुस कर अराजकता फैलाने की घटना ने एक बार फिर सुरक्षा व्यवस्था को सवालो के कटघरे में खड़ा कर दिया है।
संसद में घुसकर अराजकता फैलाने वाले दो युवकों में एक युवक लखनऊ के आलमबाम का रहने वाला है। सागर नाम का यह युवक ई रिक्शा चलाता है। उसकी उम्र 27 साल है। परिवार में मां, बाप के साथ एक बहन है। पिता कारपेंटर का काम करते हैं। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस आलमबाग स्थित उसके घर पहुंची। पुलिस द्वारा उसके परिवार से पूछताछ की जा रही है। 
सागर बीते दो वर्ष से बेंगलुरु में रह रहा था। जहां से इसी रक्षाबंधन में वापस आया। वापस आने के बाद उसने अपना निजी रिक्शा खरीदा। वह रोजी-रोटी के लिए रिक्शा चलाता था। सागर की एक मौसी दिल्ली के बसंत बिहार में रहती हैं। जहां उसका नियमित रूप से आना-जाना रहता है। 
संसद पर हमले की बरसी के दिन ही वहां सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला सामने आया है। लोकसभा की कार्यवाही के दौरान बुधवार को दर्शक दीर्घा से दो शख्स नीचे कूद गए। सांसदों ने दोनों शख्स को घेर लिया। लोकसभा की सुरक्षा में लगे मार्शल भी तुरंत दौड़कर आए और दोनों को पकड़ लिया। खबर है कि इसमें छह लोग शामिल रहे। अब सवाल इस बात का है कि आखिर सुरक्षा में चूक कैसे हो गई। सुरक्षा ऐजेंसियां लगातार दावा करती रही कि परिन्दा पर नहीं मार सकता है लेकिन आरोपी संसद में घुस गये। लोकसभा के सुरक्षा में चूक एक बड़ा मामला है। इसके असली साजिश कर्ता कौन है?

Comments

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र