चलते चलते रोडवेज की बस में लगी आग, जल कर हुई राख, जन हांनि नही यात्री कूद कर बचाए जान


बाराबंकी स्थित अकबरपुर से 60 यात्रियों को लेकर कानपुर जा रही रोडवेज बस में लखनऊ-अयोध्या नेशनल हाईवे पर अहमदपुर टोल प्लाजा पर पहुंचते ही आग लग गई। चालक ने तेजी से बस को बैक कर प्लाजा से दूर किया। चंद सेकेंडों में ही बस से आग की लपटें उठने लगीं। इस दौरान टोलकर्मियों ने यात्रियों को बाहर निकाला तो कुछ खिड़कियों से कूदकर बाहर आए। बस आग का गोला बनी रही। अफरातफरी के बीच फायर बिग्रेड व पु़लिस ने करीब दो घंटे बाद आग पर तब काबू पाया जब बस जल गई।
अकबरपुर डिपो की बस अयोध्या से 60 यात्रियों को लेकर लखनऊ की ओर जा रही थी। बस जैदपुर थाना क्षेत्र में स्थित अहमदपुर टोल प्लॉजा पर पहुंचकर लेन संख्या एक पर रुकी तो उसके इंजन से धुंआ निकलने लगा। टोलकमियों ने इसकी जानकारी बस के चालक ब्रजलाल यादव को दी तो चालक ने तेजी से बस बैक की। क्योंकि टोल प्लॉजा के ऊपर शेड था और आसपास केबिन आदि बने हैं। अभी वह 100 मीटर पीछे ही गया था कि इंजन से उठ रही आग की लपटें बस को आगोश में लेने लगी। यह देख यात्री चीख पड़े। 
चालक परिचालक ने सबको तत्काल भागने को कहा। ऐसे में टोलकर्मियों ने हिम्मत दिखाई और वह बस के अंदर पहुंचकर बाहर लाने लगे। बस के अंदर धुंए का गुबार भर गया था। चीख व पुकार के बीच दर्जनों यात्री खिड़कियों से कूद पड़े। सभी के चेहरे पर दहशत फैली थी। यात्रियों में करीब डेढ़ दर्जन महिलाएं थी। गनीमत थी कि सभी यात्री बाहर आ चुके थे क्योंकि पांच मिनट के अंदर बस आग का गोला बन चुकी थी।
सूचना पाने के बाद मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की गाड़ी ने बस पर करीब दो घंटे तक पानी की बौछार की मगर बस जल गई तभी आग शांत हुई। मौके पर पहुंची पुलिस ने चालक अंबेडकर नगर जिला निवासी ब्रजलाल व परिचालक रामसकल गुप्ता के बयान दर्ज किए। परिचालक ने बताया कि बस का फिटनेस प्रमाण पत्र भी है। दोनों ने हाईवे से गुजर रही अन्य बसों को रोकवाकर यात्रियों को गंतव्य की ओर भेजा। जैदपुर के कोतवाल अमित प्रताप सिंह ने बताया कि प्रथमदृष्टया इंजन में शार्ट सर्किट से बस में आग लगी।
अयोध्या निवासी संगीमा व नीलम आग लगने के दौरान तेजी से बस के बाहरर आ गई। वह सीट के नीचे अपने बैग नहीं ला सकी। आग की लपटें तेज होने के कारण दोबारा बस में घुसना संभव नहीं था। आखिरकार बैग में रखी दोनों महिलाओं की करीब 15 हजार रुपये की नकदी जल गई। दोनों महिलाएं एक शादी में जा रही थी। वहीं, बस का इमरजेंसी गेट भी नहीं खोला जा सका। एआरटीओ अंकिता शुक्ला ने बताया कि बस में किस खराबी से आग लगी इसकी जांच की जा रही है।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा चपरासी ढाई लाख रुपए घूस ले रहा था चपरासी सहित एसीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद