ओमप्रकाश राजभर के सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज विवेचना शुरू जानें कारण



सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के सुरक्षाकर्मियों के खिलाफ पीजीआई थाने में मारपीट का मुकदमा दर्ज किया गया है। पीड़ित अधिवक्ता ने कोर्ट की मदद से केस की विवेचना का आदेश जारी कराया है। इसके बाद पुलिस ने पहले से दर्ज एनसीआर को एफआईआर में तब्दील कर विवेचना शुरू की है।
पीजीआई के पंचम खेड़ा निवासी आशुतोष कुमार अधिवक्ता हैं। पिछले वर्ष सात दिसंबर को वह स्कूटी से अपने साथी अधिवक्ता के साथ कृष्णानगर से लौट रहे थे। उनका आरोप है कि तेलीबाग चौराहे के पास सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर का काफिला निकल रहा था।
चौराहे के पास जाम लगा था। आशुतोष के अनुसार उन्होंने काफिले के पीछे जैसे ही अपनी स्कूटी बढ़ाई सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें बुरी तरह से पीट दिया। इससे उन्हें गंभीर चोटें आईं थीं।
पीजीआई इंस्पेक्टर बृजेश कुमार तिवारी का कहना है कि मामले में पहले एनसीआर दर्ज की गई थी। कोर्ट ने विवेचना करने का आदेश दिया तो मामले में रविवार को सुरक्षाकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज कर विवेचना शुरू की गई है।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद