यूपी बोर्ड 2024 की परीक्षा में नकल रोकने के लिए कई उपाय पर मंथन, तीन स्तर पर होगी निगरानी


यूपी बोर्ड परीक्षा 2024 में केंद्रों की तीन स्तर पर निगरानी होगी। केंद्रों पर किसी तरह की मनमानी नहीं चलेगी। पहली बार माध्यमिक शिक्षा परिषद के क्षेत्रीय कार्यालय से भी संबद्ध 15 जिलों के परीक्षा केंद्रों की निगरानी की जाएगी। सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों से सीसीटीवी से संबंधित जानकारी मांगी गई है।
केंद्रों की सूची व परीक्षा कार्यक्रम जारी कर दिए गए हैं। नकल पर नकेल कसने के तमाम उपाय किए जा रहे हैं। माध्यमिक शिक्षा परिषद के क्षेत्रीय कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाया जाएगा। कार्यालय के क्षेत्रीय अपर सचिव विनोद राय ने बताया कि डीआईओएस से केंद्रों पर लगे सीसीटीवी की जानकारी मांगी गई है। ताकि सभी केंद्रों से जुड़कर वेबकास्ट से निगरानी की जा सके। केंद्राध्यक्षों की सूची भी मांगी गई है। बताया कि पहले डीआईओएस व माध्यमिक शिक्षा परिषद स्तर पर ही सेवा थी। यहां सूचनाएं मांगने पर ही मिलती थी।
इस बार बोर्ड की कॉपियां कलरफुल रहेंगी। विनोद राय ने बताया कि नकल रोकने के लिए ऐसा किया गया है। इससे नकल माफिया कॉपियों को बदल नहीं पाएंगे। बताया कि फेस स्कैनिंग भी होगी। ताकि दूसरे के स्थान पर कोई परीक्षा न दे सके।
15 जिलों में 2084 परीक्षा केंद्र हैं। जबकि 14, 26745 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। जबकि वाराणसी में 98888 परीक्षार्थी हैं। इसमें से 52 हजार से अधिक हाईस्कूल और 46 हजार से अधिक इंटर में परीक्षार्थी हैं।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद