शीतलहर के मौसम में पछुआ हवाओ ने बढ़ाई गलन और ठंडक, पारा लुढ़का नीचे

जौनपुर। जनपद जौनपुर सहित पूर्वांचल के जिलो में सर्द हवाओ ने सूर्य के ताप को कमजोर करते हुए बुधवार को पूरे दिन ठंडक और गलन को बढ़ाया है।दिन में कुछ समय के लिए आम जनमानस घरो से बाहर धूप में निकले जरूर लेकिन गलन के कारण फिर घरो में दुबकने को मजबूर हो गए है।
पूरे दिन चल रही पछुआ हवाओ ने मौसम को कोल्ड करते हुए वातावरण के पारे को नीचे धकेल दिया है। दो तीन दिनों से दिन में अच्छी धूप हो जा रही थी और लोगों को काफी हद तक ठंड और गलन से राहत मिली हुई थी। लेकिन बुधवार को एक बार फिर से गलन ने अपना प्रभाव दिखाना शुरू कर दिया। दोपहर बाद गलन बढ़ने से लोग घरों में अलाव जलाकर दुबकने को मजबूर रहे। गलन से बचने के लिए लोग बुधवार की शाम को अलाव तापते नजर आये हैं। ग्रामीण इलाको में तो शाम को धुंध बढ़ने से दृश्यता कम हो गई। ठंडक और गलन के चलते ग्रामीण इलाकों की छोटी बाजारों में शाम होते ही सियापा छाने लगा है। ठंड और गलन से सबसे ज्यादा दिक्कत खेतों की सिंचाई कर रहे किसानों को हुई। सर्द हवाओं के कारण गलन बढ़ने से उन्होंने अपने खेतों की सिंचाई को रोक दिया है।
शीतलहर के इस मौसम में सबसे अधिक परेशानी किसान और श्रमिक वर्ग को हो रही है। शीतलहर में बढ़ी ठंडक के कारण किसान अपनी खेती नही कर पा रहा है तो श्रमिक अपने परिवार की जीविका के लिए काम नहीं कर पा रहा है। शीतलहर और गलन ने तो गरीब परिवारो में फांका कसी तक करा दिया है।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद