जौनपुर मूल के इस व्यापारी को उठा ले गए बदमाश,'जिंदा चाहिए तो 50 लाख भेजो',पुलिस ने रचा चक्रव्यूह और धर लिया


गुजरात के सूरत में कारोबार करने वाले जौनपुर मूल के व्यापारी रामआसरे का 15 मार्च को आगरा फोर्ट के सामने अपहरण कर लिया गया। पिनाहट के जंगल में बंधक बनाकर अपहर्ताओं ने 50 लाख रुपये फिरौती मांगी। पता चलने पर पुलिस और सिटी जोन की एसओजी टीम ने कारोबारी को मुक्त कराया। एक अपहर्ता को भी पकड़ा गया। दो अन्य फरार हैं। व्यापारी को आगरा बहाने से बुलाया गया था।
डीसीपी सिटी सूरज कुमार राय ने बताया कि रामआसरे (55) मूलरूप से जौनपुर के निवासी हैं। सूरत में मशीन का कारोबार करते हैं। नीलेश उनके पार्टनर हैं। रामआसरे पूर्व में बर्फ फैक्ट्री की मशीनों की मरम्मत करते थे। पिनाहट निवासी विजय तोमर सूरत में उनके साथ काम करता था। वह वहां से काम छोड़ आया था। विजय तोमर ने रामआसरे को फोन किया। बताया कि उसके गांव में एक बर्फ की फैक्टरी है। मशीन में कुछ गड़बड़ी है। मरम्मत के 50 हजार रुपये दिला देगा। यदि मशीन ठीक नहीं होती है तो दूसरी मशीनें लगाने का काम भी दिलवा देगा।
पुलिस ने बताया कि 15 मार्च को रामआसरे अपने भांजे प्यारे मोहन के साथ आगरा फोर्ट रेलवे स्टेशन पहुंचे। विजय तोमर और उसका एक साथी अलग-अलग बाइक से स्टेशन पर उन्हें लेने आए। विजय ने उन्हें अपनी बाइक पर बैठाया। उनके भांजे को दूसरे साथी ने रिक्शे में बैठा दिया। इसके बाद खुद गाड़ी लेकर चला गया।
विजय उन्हें गांव ले गया। वहां एक कमरे में बंद कर दिया। उसके साथ दो और युवक थे। एक रात कमरे में रखने के बाद आरोपी उन्हें एक खेत में ले गए। वहां एक कोठरी में रखा। उन्हें धमकाया। बदमाशों के कहने पर उन्होंने अपने पार्टनर को 50 लाख की फिरौती का फोन किया। फिरौती का फोन पहुंचने पर सूरत निवासी नीलेश ने रामआसरे के बेटे अजय कुमार को घटना की जानकारी दी। बेटे ने आगरा पहुंचकर पुलिस अधिकारियों को जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके छानबीन शुरू की।
डीसीपी सिटी ने बताया कि एसीपी सदर पीयूष कांत के नेतृत्व में रकाबगंज थाना पुलिस और सिटी एसओजी पिनाहट पहुंची। वहां देर रात पुलिस ने रामआसरे को मुक्त कराया। एक बदमाश को पकड़ा। एक बाइक और तमंचा भी बरामद किया। बदमाश ने अपना नाम गुरावली, पिनाहट निवासी पप्पू बताया। पूछताछ में उसने अपने साथियों के नाम बताए हैं। उनकी तलाश की जा रही है।
 डीसीपी ने बताया कि पुलिस के पास फिरौती के फोन की रिकॉर्डिंग है। बदमाश फिरौती का फोन एक जगह से नहीं करते थे। हर बार लोकेशन बदल जाती थी। वे अपनी रनिंग लोकेशन शो कर रहे थे। फिरौती की रकम लेकर ग्वालियर बुला रहे थे। ग्वालियर के लिए बार-बार कारोबारी के बेटे से बात कर रहे थे।

Comments

Popular posts from this blog

बाहुबली नेता एवं पूर्व विधायक के परिवार जनों पर फिर मारपीट और छेड़खानी का मुकदमा हुआ दर्ज, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

भाजपा के प्रत्यशियो की दसवीं सूची जारी, मछलीशहर से भी प्रत्याशी घोषित देखे सूची

लोकसभा चुनाव के लिए बसपा की चौथी सूची जारी, जानें किसे कहां से लड़ा रही है पार्टी, देखे सूची