पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य ने पकड़ी रफ्तार, सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन



लखनऊ: लॉकडाउन में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य ने एक बार फिर से रफ्तार पकड़ ली है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य में सोशल डिस्टेंसिंग के प्रोटोकॉल का भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है। मजदूरों, मशीन चालकों और ठेकेदारों को निर्देश दिया गया है कि वे बिना आवश्यक एक-दूसरे के संपर्क में ना आएं।
इसके साथ ही लगातार मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण करवाया जा रहा है और स्वच्छता का भी ध्यान रखा जा रहा है। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का 42 प्रतिशत से अधिक का कार्य पहले ही पूरा हो तुका है। अब बाकी बचे कार्य को तेज रफ्तार में पूरा किया जा रहा है।
बता दें कि राजधानी लखनऊ से लेकर गाजीपुर तक पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण हो रहा है। यह एक्सप्रेस-वे करीब 341 किमी लंबा है। बता दें कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे अति महत्वपूर्ण परियोजना है 
इसी लिए लाक डाऊन में  निर्माण कार्य शुरू है।
बता दें कि लाॅकडाउन लागू होने पर थम गया था पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे और गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य 20 अप्रैल से फिर शुरू कर दिया गया है। यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश अवस्थी अनुसार  पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे में लखनऊ को छोड़कर सभी आठ पैकेज में काम शुरू हो गया है। इनमें औसतन दस हजार से अधिक श्रमिक काम करते रहे हैं, लेकिन फिलहाल 4835 श्रमिक काम कर रहे हैं।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद