अंतर्विषयक शोध से मिलेंगे रोजगार के अवसर: प्रो. निर्मला एस.मौर्य


जौनपुर । वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस समारोह के अंतर्गत 28 फरवरी  को उमानाथ सिंह अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी संस्थान द्वारा एक राष्ट्रीय वेबिनार " राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत अंतर्विषयक शिक्षा एवं शोध के संकल्प" का आयोजन किया गया। इस अवसर पर अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रो. निर्मला  एस. मौर्य ने  कहा कि अंतर्विषयक शिक्षा एवं शोध के माध्यम से नए रोजगार विकसित किये जा सकते हैं। कार्यक्रम में इंडियन यूनिवर्सिटी एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष प्रो. प्रीतम बाबू शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि शिक्षा का उद्देश्य सहअस्तित्व के साथ देश का विकास है। आपने व्यवसायिक उच्च शिक्षा के क्षेत्र में अंतर्विषयक सम्मिलन पर जोर दिया । वेबिनार के द्वितीय विशेषज्ञ प्रो. विवेक तिवारी, आई.आई.एस.सी. बंगुलुरु ने  अंतर्विषयक परंपरा का गहन विश्लेषण करते हुए मानव मस्तिष्क के अध्ययन में एम. आर. आई.  के योगदान पर चर्चा की। इसमें भौतिक शास्त्र रसायन शास्त्र एवं जीव विज्ञान के सिद्धांतों का वर्णन किया। समन्वयक प्रोफेसर बी.बी. तिवारी ने अतिथियों का स्वागत करते हुए अंतर्विविषयक अध्ययन की चर्चा की। टेकिप-III  के शैक्षणिक नोडल-ऑफिसर डॉ. रवि प्रकाश ने धन्यवाद ज्ञापित किया । इस अवसर पर डॉ. रजनीश भास्कर, डॉ .संजीव गंगवार. दीपक सिंह, अनिल कुमार मौर्य एवं बड़ी संख्या में विद्यार्थी गण उपस्थित रहे ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक

पूर्वांचल की राजनीति का एक किला आज और ढहा, सुखदेव राजभर का हुआ निधन