भाजपा के आन्तरिक सर्वे में 2022 के चुनाव में सौ सीटों के अन्दर सिमट सकती है पार्टी,जानें क्या है रिपोर्ट



दैनिक भास्कर में छपी रिपोर्ट के अनुसार अख़बार के सूत्रों ने बताया कि पिछले दिनों भाजपा और आरएसएस की तरफ से एक आंतरिक सर्वे कराया गया था। इस सर्वे के अनुसार पार्टी अगले चुनाव में 100 सीटों के अंदर सिमट सकती है। साथ ही अख़बार में कहा गया है कि दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से उत्तरप्रदेश को लेकर जो राजनैतिक उठापटक चल रही है वह भी इसी सर्वे की वजह से है। आंतरिक सर्वे में हो रहे नुकसान को देखते हुए भाजपा और संघ के शीर्ष नेताओं की सक्रियता भी अचानक से लखनऊ में बढ़ गई है। 
आंतरिक सर्वे के अनुसार भाजपा के शीर्ष नेताओं को यह आभास हो गया है कि पार्टी बिना क्षेत्रीय दलों के सहयोग से लखनऊ की सत्ता पर काबिज नहीं हो सकती है। इसलिए भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा सहित कई बड़े भाजपा नेता क्षेत्रीय दलों को साधने में जुटे हुए हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पिछले दिनों भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने सुहेल देव भारतीय समाज पार्टी(सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर से बात करने की भी कोशिश की लेकिन उन्होंने बात करने से मना कर दिया। भाजपा 2017 के विधानसभा चुनाव में सहयोगी रही सुभासपा को दोबारा से साथ लाना चाहती है।

इसके अलावा भाजपा को उसके वर्तमान सहयोगी दल निषाद पार्टी और अपना दल ने भी तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दोनों पार्टियां केंद्र में मंत्री पद मांग रही है। हालांकि भाजपा अपने दोनों सहयोगी दलों को उत्तप्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले नहीं खोना चाहती है, इसलिए हाल ही में अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल ने गृहमंत्री अमित शाह समेत कई भाजपा नेताओं से मुलाकात की थी। अब यह कयास लगाए जा रहे हैं कि अपना दल की नाराजगी को ख़त्म करने के लिए अनुप्रिया पटेल को केंद्र में मंत्री बनाया जा सकता है।    



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर