महंत नरेन्द्र गिरी की मौत का तार कहीं जौनपुर से तो नहीं जुड़ा है ?


जौनपुर। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष एवं बाघंबरी मठ के महंत नरेन्द्र गिरी के मौत का तार जनपद जौनपुर से जुड़ने की चर्चायें अब होने लगी है। चर्चा है कि महंत नरेन्द्र गिरी के सेवादार रहे जनपद जौनपुर के थाना खुटहन क्षेत्र के ग्राम विशुनपुर निवासी अभिषेक मिश्रा महंत की घटना के बाद से यहां जनपद से गायब भी है। जिसके कारण आशंकाओ को बल मिलता नजर आ रहा है। 
यहां बता दे कि अभिषेक मिश्रा बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखते थे लेकिन महंत नरेन्द्र गिरी की सेवादारी शुरू करने के बाद उनके पास करोड़ो की सम्पत्ति बन गयी मकान आलीशान तो गाड़ी बंगला आदि सब कुछ के साथ असलहे भी आ गये थे। आस पास के गांवो में चर्चा शुरू हो गयी है कि अभिषेक लोंगो से यह भी कहते थे कि जल्द ही मठ पर उनका अधिकार हो सकता है। सच क्या है यह तो जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा। 
घटना के बाद एक टीवी चैनल ने अभिषेक मिश्रा के अकूत सम्पत्ति पर सवाल खड़ा किया है और आशंका भी जताया है अगर चैनल की बात सच निकली तो महंत के मौत का तार जौनपुर से जुड़  सकता है। हलांकि देश की लगभग हर एक बड़ी घटना से जनपद जौनपुर का तार जुड़ा रहा है और अब महंत नरेन्द्र गिरी की मौत से भी तार जुड़ने की संभावनाये प्रबल मानी जा रही है। 
सूत्र की माने तो अभिषेक मिश्रा का नाम महंत नरेन्द्र गिरी मौत काण्ड में गिरफ्तार आनन्द गिरी ने भी लिया है और पुलिस भी अभिषेक मिश्रा पर शक करने लगी है। हलांकि गहन छानबीन चल रही है जल्द ही सच सामने आ सकेगा। यहां एक सबसे अहम सवाल यह भी खड़ा होता है कि महंत के इस सेवादार के पास चन्द साल में अकूत सम्पत्तियां कहां से और कैसे आयी है। असलहा गाड़ी और शानो-शौकत से रहना एक बड़ा सवाल खड़ा करता है जबकि पिता एक मामूली पशु आहार की दुकान गांव में चलाता है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

विधायक और सपा नेता के बीच मारपीट की घटना का जानें सच है क्या,आखिर जिम्मेदार के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार