लूटकाण्ड में लापरवाही बरतने पर सिपाही लाईन हाजिर, जानें पूरी घटना



जौनपुर। विगत 13 अक्टूबर को थाना सरपतहां के नजोपुर (गैरवाह) निवासी महिला से हुई लूट मामले में पुलिस चौकी सरायमोहिउद्दीनपुर पर तैनात सिपाही अमरजीत यादव को पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने लाइन हाजिर कर दिया। घटना में सिपाही की भूमिका संदिग्ध पाई गई थी।
गांव निवासी सुरसत्ती देवी पत्नी हिरजू अपने पौत्र प्रिंस को साथ लेकर गुड़बड़ी बाजार स्थित बैंक से प्रधानमंत्री आवास की क़िस्त निकालने गई थी। वहां से 30 हजार निकालकर जब वह वापस घर लौट रही थी तो रास्ते में घूरीपुर व नजोपुर गांव के बीच एक सुनसान स्थान पर बाइक सवार लुटेरे तमंचे के बल पर उससे पैसे छीनकर फरार हो गए थे। पीड़िता के पौत्र ने घटना की सूचना तत्काल वापस लौटकर शाखा पर तैनात एक सिपाही को दी। आरोप है कि इसके बाद वहां उपस्थित सिपाही अमरजीत यादव घटनास्थल पर गए किंतु उन्होंने मामले की जानकारी न सिर्फ उच्चाधिकारियों से छिपाई बल्कि पीड़िता का मोबाइल भी यह कहकर स्विच ऑफ करवा दिया कि इस संबंध में किसी से भी कुछ मत बताना।
बाद में देर शाम घटना की जानकारी ग्राम प्रधान विजय सिंह के माध्यम से क्षेत्राधिकारी अंकित कुमार को मिली तब जाकर पुलिस लुटेरों की तलाश में सक्रिय हुई। फिलहाल अभी तक इस मामले में पुलिस को कोई खास सफलता नहीं मिली है। प्रभारी निरीक्षक विजेद्र सिंह ने बताया कि महिला से हुई लूट की जानकारी देर से देने की वजह से अमरजीत यादव के खिलाफ कार्यवाही हुई है। 
वहीं पीड़‍ित महिला को अब तक न्‍याय न मिलने की वजह से पुलिस की भी क्षेत्र में काफी किरकिरी हो रही है। माना जा रहा है कि सिपाही की यह हरकत कानून व्‍यवस्‍था में बाधा के साथ ही आम जनमानस में भी पुलिस की छवि को खराब कर रही थी। सिपाही की यह संदिग्‍ध हरकत देखकर पुलिस अधीक्षक ने कार्रवाई की है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ड्रेस के लिए बच्चे को पीटने वाला प्रिन्सिपल अब पहुंचा सलाखों के पीछे

14 और 15 दिसम्बर 21को जौनपुर रहेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव,जानें क्या है कार्यक्रम

ओमिक्रॉन से बढ़ी दहशत,पूर्वांचल के जनपदो में भी मिलने लगे संक्रमित मरीज,प्रशासनिक तैयारी तेजम