असलहे की नोक पर दिन दहाड़े सवा लाख रुपए की लूट, छानबीन में जुटी पुलिस


प्रयागराज-अयोध्या राजमार्ग पर बदमाशों ने बैंक जा रहे पोंटी चड्ढा ग्रुप के शराब गोदाम के कैशियर से सवा आठ लाख रुपये और बाइक लूट ली। दो बाइक से आए छह बदमाश बेल्हा देवी पुल के पास वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। घटना की जानकारी होने पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंचे एसपी ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद बदमाशों की धरपकड़ के निर्देश दिए।
नगर कोतवाली के महुली में पोंटी चड्ढा ग्रुप का अंग्रेजी शराब का गोदाम है। यहां प्रयागराज निवासी अनिल मिश्र कैशियर और सूर्य नारायण पांडेय गार्ड के रूप में कार्यरत हैं। बुधवार को अपराह्न करीब तीन बजे अनिल मिश्र बाइक की डिग्गी में 8,25,388 रुपये रखकर शहर स्थित आईसीआईसीआई बैंक में जमा करने जा रहे थे। बाइक पर पीछे गार्ड सूर्य नारायण पांडेय बैठा था। कैशियर अनिल के अनुसार, बेल्हा देवी पुल से पहले दो बाइक से आए छह बदमाशों ने उन्हें घेरकर रोक लिया।
मौका पाते ही बदमाशों ने धक्का देकर उन्हें और गार्ड सूर्य नारायण को नीचे गिरा दिया। इसके बाद बदमाश उनकी बाइक और डिग्गी में रहे रुपये लेकर शहर और चिलबिला की ओर निकल गए। घटना की खबर मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस बदमाशों की तलाश में हाथ-पैर मारती रही, लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला। पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है। सूचना पर पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल भी मौके पर पहुंचे और पुलिस को बदमाशों की धरपकड़ के निर्देश दिए। 
विभीषण की तलाश में जुटी पुलिस 
महुली स्थित शराब गोदाम पर जिलेभर का कैश कलेक्शन जमा होता है। जिसे कैशियर अनिल मिश्र बैंक में जमा करते हैं। ऐसे में बहुत कम लोगों को ही जानकारी थी कि अनिल मिश्र बड़ी रकम लेकर बैंक में जमा करने जाते हैं। वह रुपये बाइक की डिग्गी में रखकर ले जा रहे हैं। यह कैशियर, गार्ड के अलावा गोदाम में काम करने वाले कुछ कर्मचारियों को ही पता था। तभी तो बदमाश घटना के दौरान केवल बाइक लेकर भाग निकले। कैशियर व गार्ड को धमकाया तक नहीं। घटना के बाद पुलिस गोदाम में काम करने वाले विभीषण की तलाश कर रही है। कर्मचारियों के मोबाइल नंबरों की काल डिटेल निकलवाई जा रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

चाचा भतीजी में हुआ प्यार, फिर फरार, पकड़े जाने पर हुई दैहिक समीक्षा, अब शादी की तैयारी

58 हजार ग्राम प्रधानो को लेकर योगी सरकार ने लिया अब यह फैसला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम