पुलिस का जबरदस्त निशाना मुठभेड़ में गोली बदमाश के बायें पैर में घुटने के नीचे लगी, दो गिरफ्तार भेजे गए जेल


जौनपुर। जनपद की महानतम निशाने बाज पुलिस हत्याकांड के आरोपियों को भले ही घटना के चार दिन बाद तक पता लगाने में असफल रही और अपराधियों को मार गिराने में भी असफल रही लेकिन मुठभेड़ में एक बदमाश के बायें पैर में घुटने के नीचे गोली मारने में सफल रही और दो बदमाशो को गिरफ्तार करने का दावा ठोंकते हुए अपने बहादुरी के प्रचार प्रसार में जुट गई है। 
जी हां बात कोई कपोल कल्पित कहांनी नहीं है बल्कि जिले के थाना जलालपुर की पुलिस टीम ने एक मुठभेड़ में 25 हजार रूपये के  इनामी और वांछित गैंगेस्टर के अभियुक्त संदीप यादव के पैर में गोली मारकर गिरफ्तार करते हुए उसके सह-अभियुक्त सुजीत यादव 
के साथ गिरफ्तार करके उसके कब्जे से दो तमंचा कारतूस, चोरी की मोटरसाइकिल, मोबाइल व नकदी बरामद किया है दोनो के खिलाफ विधिक कार्यवाई कर उपचार कराते हुए जेल भेज दिया है।
यहां सवाल इस बात का है कि इतनी निशाने बाज और बहादुर तथा अपराधी को खोज निकालने वाली जलालपुर की पुलिस अपने थाना क्षेत्र में चार दिन पहले चिकित्सक हत्याकांड के असली अपराधी को को खोज निकालने में अभी तक असफल क्यों है।
पुलिस विभाग ने जारी विज्ञप्ति के जरिए जो कहांनी बतायी है उसके अनुसार डॉ0 अजय पाल शर्मा पुलिस अधीक्षक जौनपुर द्वारा जनपद में अपराध की रोकथाम व अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत अपर पुलिस अधीक्षक नगर के निर्देशन एंव क्षेत्राधिकारी केराकत के पर्यवेक्षण में थाना जलालपुर पुलिस टीम द्वारा पच्चीस हजार रुपये का इनामी अभियुक्त को एक मुठभेड़ में उसके  पैर में गोली मारते हुए उसके सह अभियुक्त को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। 
पुलिसिया कहांनी के मुताबिक पुलिस टीम को रात्रि गस्त के दौरान मुखबिर खास द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि गैगेस्टर का वांछित अभियुक्त अपने सह-अभियुक्त के साथ वाराणसी सिन्धौरा की तरफ से भाऊपुर होते हुए काले रंग की मोटर साइकिल से कोई घटना कारित करने के उद्देश्य से त्रिलोचन की तरफ आ रहा है कि मुखबिर की सूचना पर विश्वास कर पुलिस टीम द्वारा ओइना नहर पुलिया के पास घेराबन्दी कर संदिग्ध वाहनों व व्यक्तियों की चेकिंग शुरू कर दी कि थोड़ी देर बाद वाराणसी सिन्धौरा की तरफ से सडक मार्ग से एक वाहन की हेट लाइट की रोशनी दिखाई पड़ी नजदीक आने पर रोकने का इशारा किया गया तो मोटर साइकिल पर पीछे बैठे हुए व्यक्ति ने असलहे से पुलिस टीम पर जान से मारने की नियत से फायर किया गया। आत्म सुरक्षार्थ पुलिस की जवाबी फायरिंग में एक बदमाश को बायें पैर में गोली लगी जिससे बदमाश घायल होकर गिर पड़ा। इसके बाद दूसरे बदमाश को काम्बिंग कर पकड़ लिया गया। पूछताछ में घायल बदमाश ने अपना नाम सन्दीप यादव पुत्र अशोक यादव नि0 नेवादा थाना जलालपुर (घायल) और गिरफ्तार सह अभियुक्त ने अपना नाम सुजीत यादव उर्फ सन्दीप यादव उर्फ गुज्जर पुत्र धर्मराज यादव नि0 तुल्लापुर रेहटी थाना जलालपुर जौनपुर बताया है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार बदमाशो का जारी अपराधिक इतिहास के अनुसार संदीप यादव के उपर थाना जलालपुर में आठ अपराधिक मुकदमें दर्ज है तो सुजीत यादव के उपर चार अपराधिक मुकदमें थाना जलालपुर में ही दर्ज है।पुलिस ने घायल बदमाश को इलाज हेतु अस्पताल भेजा गया है। सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर अग्रिम विधिक कार्यवाही की जा रही है। सवाल फिर कि इतनी सक्रिय और तेज पुलिस आखिर हत्याकांड के खुलासे में विलम्ब क्यों कर रही है।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद