अजीत हत्या काण्ड में अब एक नया मोड़, माफिया सुनील राठी का भी नाम शामिल


लखनऊ स्थित थाना विभूति खण्ड क्षेत्र में कठौता चौराहा पर जनपद मऊ के निवासी पूर्व जेष्ठ ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह हत्या काण्ड में अब एक नया खुलासा पुलिस ने किया है अब इस घटना में सुनील राठी का नाम सामने आया है। 20 घंटे की पुलिस रिमांड में हत्यारोपित शूटर राजेश तोमर ने माफिया सुनील राठी का नाम लिया है। आरोपित का कहना है कि वह सुनील राठी के कहने पर लखनऊ आया था। इसके बाद गिरधारी से मुलाकात कर अजीत की हत्या की थी।
राजेश तोमर के इस बयान के बाद पुलिस सुनील राठी से पूछताछ की तैयारी कर रही है। माना जा रहा है कि सुनील राठी भी अजीत हत्याकांड में शामिल था। पुलिस राजेश के बयान की पड़ताल कर रही है। राजेश की पुलिस को 20 घंटे की पुलिस रिमांड मिली थी। गुरुवार को भी पुलिस ने उससे पूछताछ की थी। शुक्रवार शाम आरोपित को जेल में दाखिल कर दिया गया। पुलिस ने इस मामले में छह लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया है। हालांकि, अभी तक इस मामले में राजेश तोमर व पूर्व सांसद धनंजय सिंह के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल नहीं किया गया है। इनके खिलाफ अभी विवेचना चल रही है। पुलिस की ओर से मुल्जिम कुंटू सिंह उर्फ ध्रुव, अखंड, संदीप उर्फ बाबा, मुस्तफा उर्फ बंटी, शिवेंद्र सिंह उर्फ अंकुर, बंधन सिंह, प्रिंस व रेहान के खिलाफ ही चार्जशीट दाखिल की गई है।

पूर्व सांसद धनंजय सिंह की तलाश का दावा करने वाली पुलिस शांत बैठ गई है। इनाम घोषित करने और गिरफ्तारी वारंट लेने के बाद पुलिस ने दिखावे की दबिश दी थी, लेकिन अभी तक पूर्व सांसद को गिरफ्तार नहीं कर पाई। ऐसा माना जा रहा है कि पुलिस की लापरवाही से धनंजय सिंह जेल से बाहर हैं और अधिकारी शांत बैठे हैं। छह जनवरी को विभूतिखंड में अजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने धनंजय सिंह को साजिश रचने का आरोपित बनाया है।  

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

विधायक और सपा नेता के बीच मारपीट की घटना का जानें सच है क्या,आखिर जिम्मेदार के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार