जौनपुर में भी पहुँच गया ब्लैक फंगस महामारी चिकित्सकों में हडकंप - सीएमओ




जौनपुर। कोरोना के बाद अब नयी महामारी के रूप में सामने आए ब्लैक फंगस ने उत्तर प्रदेश के जौनपुर सहित पूर्वांचल के जिलों में भी दस्तक दे दी है। जिले के अलग- अलग इलाकों से इसके नौ मरीज मिले हैं। ब्लैक फंगस के मरीजों की सूची कोविड- पोर्टल पर अपलोड होते ही स्वास्थ्य महकमे में खलबली मचा दी है। 
यहाँ बता दे कि जनपद के सीएमओ डा. राकेश कुमार ने बताया कि जिले के जिन 9 मरीजों में ब्लैक फंगस मिला है इनमें से छह का उपचार वाराणसी और तीन का उपचार लखनऊ के अस्पताल में चल रहा है। इन मरीजों का उनका कोविड का उपचार भी लखनऊ या वाराणसी के अस्पतालों में ही हुआ था। हालांकि जौनपुर में कोविड का उपचार कराने वाले किसी भी मरीज में अभी तक ब्लैक फंगस के लक्षण नहीं मिले हैं।
सीएमओ ने बताया कि यह बीमारी संक्रमितों की आंखों की रोशनी छीन रही है तो त्चचा, नाक और चेहरे के अन्य अंगों को भी नुकसान पहुंचा रही है। नाक में सूखी पपड़ी जम जाना, आंखों में जलन, दांतों के ऊपर सूजन, त्वचा में लालपन, आंखों में सूजन व दर्द, आंख व नाक के नीचे लाल-काले धब्बे इसके लक्षण हैं। यह नाक के जरिए फेफड़ों और मस्तिष्क में पहुंचकर लोगों की जान लेवा बन रहा है। 
एक रिपोर्ट के अनुसार बीएचयू अस्पताल में जिस तरह से मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, उसको लेकर जांच, इलाज भर्ती सहित अन्य सुविधाओं में भी बढ़ोतरी की जा रही है। अब तक कुल मरीजों की संख्या 84 हो गई है। इसमें तीन मरीजों का ऑपरेशन भी किया गया।
कुल मिलाकर अब तक 12 मरीजों के ऑपरेशन हो चुके हैं। हालांकि ब्लैक फंगस के छह मरीजों की मौत भी हो चुकी है। बीएचयू अस्पताल के डिप्टी एमएस प्रोफेसर सौरभ सिंह के अनुसार बी एच यू में 24 घंटे ऑपरेशन सुविधा शुरू होने से मरीजों को बड़ी राहत हो रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर