डीएम हुए शख्त अधिक शिकायत वाले गांव के लेखपालों की लगायी क्लास, एक क्षेत्र में तीन साल से डटे लेखपालों को हटाने का आदेश


जौनपुर। शिकायतों और समस्याओं को लेकर जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा अब खासे शख्त नजर आ रहे है। आज प्रेक्षागृह में जनपद के ऐसे गाँव जहाँ से सबसे अधिक शिकायतें आईजीआर एस पर प्राप्त हुई हैं, विस्तार से समीक्षा की। सभी तहसीलों से 10 गाँव चिन्हित किये गए थे। जिलाधिकारी ने उन गांवों के लेखपालों को स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियो को निर्देशित किया कि टीम लेकर ऐसे गाँवो में जाये और मामलों का निस्तारण कराये। उन गांवों की रेवेन्यु रिकॉर्ड से पैमाइश करा ली जाए। उन्होंने सभी उपजिलाधिकारी एवं तहसीलदार को निर्देश दिया कि प्राथमिकता के आधार पर शिकायतो का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण कराये। उन्होंने कहा की शिकायत कर्ता को लिखित में अवगत कराएं और गवाहों की उपस्थिति में ही रिपोर्ट लगाई जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि 01 ही हल्के में 03 साल से ज्यादा समय से नियुक्त लेखपालों को हटाया जाए और 03 दिन के भीतर सूचित किया जाए। 05 सालो से अधिक जमीन विवाद के  लंबित मामलों को रणनीति बनाकर निस्तारित किया जाए।

जिलाधिकारी ने कहा कि तालाब, खेल के मैदान, स्टेडियम एवं गौआश्रय के लिए जमीन का चिन्हांकन प्राथमिकता के आधार पर कर लिया जाए। अभियान चलाकर पैमाइश कराया जाए। अवैध कब्जा हटवाया जाए।

इस अवसर पर सभी मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला, अपर जिलाधिकारी द्वय राजकुमार द्विवेदी, रामप्रकाश उपायुक्त मनरेगा भूपेंद्र सिंह समस्तउपजिलाधिकारी, तहसीलदार सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहें।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

आइए जानते है मुन्ना बजरंगी के भाई को पुलिस ने क्यों किया गिरफ्तार