एक सप्ताह के भीतर मुसहर बस्ती में हुई तीन बच्चों की मौत से मचा हड़कंप, गांव पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम


जौनपुर। जिले के मीरगंज क्षेत्र के मेदपुर बनकट गांव के मुसहर बस्ती में एक सप्ताह के अंदर तीन बच्चियों की मौत की खबर वायरल होते ही इलाके में हड़कंप मच गया। इसकी सूचना पर गुरुवार को डॉ. बीएल यादव के नेतृत्व में सीएचसी मछलीशहर के स्वास्थ्य टीम गांव पहुंची। गांव के 58 मरीजों की जांच की। एक बीमार को मछलीशहर भेजा गया। सभी की कोविड की रिपोर्ट निगेटिव आई है। मौत का कारण फूड प्वाइजनिंग से बताई जा रही है।
मछलीशहर ब्लॉक के मेदपुर बनकट गांव में 6 अगस्त को समारु मुसहर की लड़की लक्ष्मीना(7) की मौत हुई।  9 अगस्त को चंचल मुसहर की लड़की एक वर्षीय झगड़ी की मौत हुई। 10 अगस्त को चंचल की पुत्री रानी(4) की मौत हो गई। बच्चों की मौत होने से गांव में हड़कंप मच गया।
इसकी जानकारी ग्राम प्रधान सुशीला के पति शेर बहादुर यादव को हुई तो उन्होंने स्वास्थ्य टीम को इसकी सूचना दी। जिसके बाद गुरुवार को मछलीशहर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से डा. बीएल यादव के नेतृत्व में स्वास्थ्य टीम गांव में पहुंच कर 58 लोगों की पहले कोविड -19 की जांच की। जिसमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई। जांच के दौरान शंकर(40)  बीमार मिले तो उसे एम्बुलेंस से इलाज के लिए मछलीशहर भेजा गया।
टीम में पंकज पाण्डेय, विजय मौर्य, आशा मीरा यादव, मीना बिन्द, चन्द्रशेखर व राकेश यादव शामिल रहे। डॉ. बीएल यादव ने बताया की मुसहरों द्वारा बासी भोजन खाने से फूड प्वाइजनिंग हुई है।  बस्ती के लोगों को बासी खाना नहीं खाने की सलाह दी गई है साथ ही इंडिया मार्का हैंडपंप का पानी पीने के लिए कहा गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

चाचा भतीजी में हुआ प्यार, फिर फरार, पकड़े जाने पर हुई दैहिक समीक्षा, अब शादी की तैयारी

58 हजार ग्राम प्रधानो को लेकर योगी सरकार ने लिया अब यह फैसला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम