वर्षात के समय थाना रामपुर में जल जमाव के लिए जिम्मेदार कौन ?, आखिर जल निकसी की व्यवस्था क्यों नहीं


जौनपुर। जनपद का एक ऐसा थाना जो वर्षात होने के साथ ही जल मग्न हो जाता है। पुलिस जन से लेकर आम जन फरियादी तथा अधिकारी भी लबालब भरे पानी से थाना में प्रवेश करते भी है लेकिन विभाग आज तक थाने को जल जमाव से मुक्ति नहीं दिला सका है। जी हां हम बात कर रहे है जनपद जौनपुर और भदोही जिले की सीमा पर स्थित थाना रामपुर की जहां जरा सी भी वर्षात होते ही थाना डूबने लगता है क्योंकि जल निकासी की कोई व्यवस्था यहां पर नहीं है। 
बता दें थाना बनने के पश्चात यहां पर सड़क को उंचा कर दिया गया लेकिन थाने में इकठ्ठा होने वाले पानी के निकासी के लिए नाली की व्यवस्था न तो लोक निर्माण विभाग ने किया नहीं पुलिस विभाग ने ही किया जिसका परिणाम यह है कि थाना परिसर सड़क से लगभग दो तीन फिट नीचे हो गया है। वर्षात होते ही पानी थाना परिसर स्थित मुख्य द्वार से लेकर आफिस तक लबालब भर जाता है। मजबूरन पुलिस और आम फरियादी भी जल मग्न रास्ते से आते जाते है। 
यहां बता दे कि थानो के रखरखाव एवं अन्य व्यवस्थाओ के लिए शासन से एक बड़ा बजट भी आता है लेकिन इस थाने के अन्दर होने वाले जल जमाव की समस्या दूर करने के लिए क्यों अधिकारी गम्भीर नहीं हुए यह तो बड़ा सवाल खड़ा होता है। खबर यह भी है कि इस समस्या से निजात के लिए अधिकारियों के पास थाना प्रभारियों द्वारा पत्राचार किया गया है लेकिन उसे अनसुना कर दिया इसके पीछे कारण चाहे जो हो लेकिन वर्षात के जल जमाव से पुलिस और आम जन सभी पीड़ित है। सवाल इस बात का है क्या विभाग के शीर्ष अधिकारी अपने मातहतों की सुविधा के लिए इस समस्या की ओर ध्यान देगे अथवा उन्हे उनके हाल पर छोड़ देंगे। हलांकि ऐसे जल जमाव से भयानक संक्रामक बीमारी का जबरदस्त खतरा बना रहता है। तो क्या विभाग रामपुर की पुलिस को ऐसे खतरों से जूझने के लिए छोड़ देगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर