स्वतंत्र देव सिंह और ओमप्रकाश राजभर की मुलाकात से जानें कैसे गरमायी प्रदेश की सियासत



उत्तर प्रदेश  के राजधानी लखनऊ में मंगलवार को सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से उनके आवास पर मुलाकात की। आगामी विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की तस्वीर (फाइल फोटो:सोशल मीडिया) करीब एक घंटे की मुलाकात के बाद ओपी राजभर ने कहा कि राजनीति में कुछ भी संभव है। हालांकि, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष से मुलाक़ात को ओम प्रकाश राजभर ने निजी बताया। इससे पहले वह कल बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह से भी मिले थे। 
दोनों पार्टियां 2017 का विधानसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ी थी बता दें कि 2017 विधानसभा चुनावों में ओम प्रकाश राजभर की सुभासपा और भारतीय जनता पार्टी ने मिलकर चुनाव लड़ा था। गौरतलब है कि चुनाव में भाजपा की प्रचंड जीत हुई थी। और एनडीए 325 सीटों पर कब्जा करने में कामयाब रही थी। बता दें, सुभासपा ने साल 2017 में हुए प्रदेश की आठ विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिनमें से उसे चार पर जीत मिली थी। ओपी राजभर ने ओवैसी के साथ किया है गठबंधन आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर ओम प्रकाश राजभर ने एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के साथ गठबंधन किया है। राजभर ने 100 सीटों पर ओवैसी के उम्मीदवारों को उतारने के लिए कहा है। यानि, सुभासपा बाक़ी बची सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी। बता दें कि प्रदेश में कुल 403 विधानसभा सीटें हैं। 
ओपी राजभर ने कहा बीजेपी झूठ बोलने में माहिर इससे पहले सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा था कि 'जब लोग ऑक्सीजन न मिलने की वजह से, दवा न मिलने की वजह से, वेंटिलेटर न मिलने की वजह से, बेड न मिलने की वजह से मर रहे थे तब भाजपा बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में भाजपा वोट के इंतेजाम में लगी थी तो कैसे इनको मौत की खबर लगेगी, भाजपा भारतीय झूठ पार्टी के लोग झूठ बोलने में माहिर है।'

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

असलहा बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ बड़ी तादाद में मिले तमंचे, चार गिरफ्तार पहुंचे सलाखों के पीछे

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ