नीट परीक्षा के साल्वरो की बढ़ी मुश्किले पुलिस कमिश्नर ने सभी को भेजा पत्र, जानें पूरा मामला


वाराणसी के नीट सॉल्वर गैंग मामले में 16 अभ्यर्थियों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। वाराणसी पुलिस कमिश्नर सतीश ए गणेश ने बुधवार को सारनाथ के एडीसीपी, एसीपी और एसएचओ के साथ बैठक पर केस के मामले में समीक्षा की। उन्होंने सभी अभर्थियों को अपना पक्ष रखने के लिए पत्र भेजा है। जिसकी अंतिम तारीख 15 नवंबर है। ये सभी अभ्यर्थी सॉल्वर गैंग के संपर्क में आए थे, जिन्होंने अपने स्थान पर फर्जी अभ्यर्थियों को बैठाकर परीक्षा दिलाने की साठगांठ की थी। वाराणसी पुलिस ने करीब दो महीने पहले नीट परीक्षा के दौरान खुलासा किया था। तभी से पुलिस इस गैंग पर कार्रवाई कर रही है।
वाराणसी पुलिस कमिश्नर इन अभ्यर्थियों के जिलों के कमिश्नर और एसएसपी को पत्र भेजा है। अभ्यर्थियों को इस केस के विवेचक ने पहले ही सभी सफीना (नोटिस) भेज दिया है। अगर कोई अभ्यर्थी जवाब नहीं देगा तो तब न्यायालय के माध्यम से अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।
पुलिस सभी अभ्यर्थियों फिंगर प्रिंट भी लेगी, जिन्हें परीक्षण के लिए स्टेट एफपीबी लखनऊ भेजा जाएगा। कोर्ट ने सॉल्वर गैंग के सरगना पीके के खिलाफ एबीडब्ल्यू (गैर जमानती वारंट) भी जारी किया है। वह अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।
अभ्यर्थी 16 जिलों के रहने वाले हैं। जिनमें लखनऊ का एक, सोनभद्र का एक, झांसी का एक, भोजपुर का एक, मधेपुरा का एक, पटना के दो,  ढलाई त्रिपुरा का एक, नॉर्थ त्रिपुरा के तीन और साउथ त्रिपुरा के चार रहने वाले हैं। इन्ही जिलों के पुलिस चीफ्स को कमिश्नर ने पत्र भेजा है।




Comments

Popular posts from this blog

पूर्व सांसद धनंजय सिंह के प्राइवेट गनर को गोली मारकर हत्या इलाके में कोहराम पुलिस छानबीन में जुटी

सपा ने जारी किया सात लोकसभा के लिए प्रत्याशियों की सूची,जौनपुर से मौर्य समाज पर दांव,बाबू सिंह कुशवाहा प्रत्याशी घोषित देखे सूची

21 अप्रैल को जौनपुर पहुंच कर लोकसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार का आगाज करेंगे बाबू सिंह कुशवाहा, जाने क्या है पूरा कार्यक्रम