आखिर राज्यपाल के साथ कैसे पहुँचा हिस्ट्रीशीटर, जानें क्या है मामला


विगत मंगलवार को स्वामी नारायण मंदिर छपिया दर्शन करने पहुंची प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की सुरक्षा में बड़ी चूक सामने आई है। राज्यपाल के साथ हिस्ट्रीशीटर की फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गई। इसके बाद अब पुलिस अधिकारी सफाई देते नजर आ रहे हैं।

राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने मंगलवार को स्वामी नारायण मंदिर छपिया पहुंचकर दर्शन पूजन करने के साथ ही स्कूल का भी निरीक्षण किया था। करीब चार घंटे के प्रवास के दौरान राज्यपाल ने मंदिर परिसर में कथा कार्यक्रम में हिस्सा लेने के साथ ही सेवादारों से भी मुलाकात की थी। उनके साथ फोटो भी खिंचवाई थी। बुधवार को इंटरनेट मीडिया पर एक फोटो वायरल हुई। इसमें राज्यपाल कुर्सी पर बैठी है, नीचे एक व्यक्ति बैठा हुआ है। उसका नाम मस्तराम वर्मा बताते हुए उसे हिस्ट्रीशीटर बताया जा रहा है।


छपिया थानाध्यक्ष चितवन कुमार ने बताया कि राज्यपाल के साथ जिसका फोटो वायरल हो रहा है। वह उनके थाने का हिस्ट्रीशीटर है। उस पर वर्ष 2003 में मुकदमा हुआ था। उसी समय उसकी हिस्ट्रीशीट खोली गई थी। उसके बाद से वह मंदिर में रहकर सेवादार के रूप में कार्य कर रहा है। राज्यपाल के कार्यक्रम में बाहर से किसी को नहीं जाने दिया गया था। मंदिर प्रशासन ने जिनकी सूची दी थी। उनको ही राज्यपाल से मिलने दिया गया था। वह सुरक्षा में चूक से साफ मना कर रहे हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने दबंगो के कब्जे से मुक्त करायी 30 करोड़ रुपए कीमत की सरकारी जमीन